बंगाल चुनाव : दोस्तों का बीच भी होगा मुकाबला, एक भाजपा की ओर से डालेगा यॉर्कर तो दूसरा टीएमसी के लिए जड़ेगा सिक्सर - Naya India
देश | पश्चिम बंगाल | राजनीति| नया इंडिया|

बंगाल चुनाव : दोस्तों का बीच भी होगा मुकाबला, एक भाजपा की ओर से डालेगा यॉर्कर तो दूसरा टीएमसी के लिए जड़ेगा सिक्सर

Kolkata: देश में बंगाल चुनाव (Bengal elections) को लेकर चर्चाओं का बाजार (market of discussions) गर्म है. ऐसे में बंगाल से भी चुनाव के पास आने के साथ ही रोज नया बवाल (new uproar) सामने आ रहा है. कल ही ममता बनर्जी पर हुए हमले के बाद से बंगाल में चुनावी रण के और भी ज्यादा गंभीर होने के कयास लगाए जा रहे हैं . इन सबके बीच भारत के ओर से खेल चुके दो क्रिकेटर भी बंगाल चुनाव में अपनी पार्टियों को सपोर्ट करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. बता दें कि ये दोनों ही क्रिकेटर मैदान पर काफी अच्छे दोस्त माने जाते रहे हैं. बंगाल चुनाव ने इन्हें भी एक दूसरे का विरोधी बना दिया है. ऐसे में ये देखना भी दिलचस्प होगी कि आने वाले समय में क्या इन दोनों के बीच खेल भावना जैसी ही प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी या फिर ये भी चुनावी रंग (electoral colors) में एक दूसरे के खिलाफ विरोधी स्वर लगाएंगे .

दोस्ती पर नहीं पड़ेगा असर – मनोज तिवारी

भारतीय टीम के लिए खेल चुके मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने हाल में ही टीएमसी का हाथ थाम लिया. मनोज तिवारी के उनके साथी खिलाड़ी अशोक डिंडा (Ashok Dinda) के टीएमसी (TMC) में शामिल होने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि हमारी दोस्ती हमेशा बरकरार रहेगी. उन्होंने कहा कि मैदान में तो मैं आगे भी अशोक डिंडा की गेदों को सीमा पार करने की कोशिश में लगा रहुंगा. वैसे ही चुनाव के समय में मैं उनके और उनकी पार्टी पर हमले करने से कभी पीछे नहीं हटुंगा. हालांकि उन्होंने ये साफ कर दिया कि इससे उनके डिंडा के साथ के निजी रिश्ते पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. बता दें कि मनोज को टीएमसी ने हावड़ा (Howrah) की शिबपुर सीट से उतारा है. ऐसे में कहा जा सकता है कि पार्टी ने उन पर बड़ी जिम्मेवारी दी है.

इसे भी पढ़ें- फोर्ड ने 10.49 लाख का एकोस्पोर्ट एसई लॉन्च किया

लंबी पारी खेलने की मूड में हूं- मनोज

मनोज से राजनीति (politics)के बार में पूछने पर उन्होंने कहा कि मैं यहां भी लंबी पारी खेलने के मूड में हूं. उन्होंने कहा कि मैं एस सामान्य घर से आता हूं. जहां मैंने ये देखा है कि आम लोगों को आज भी सामान्य चीजों के लिए कितना परेशान होना पड़ता है. उन्होंने कहा कि इसलिेए मैंने राजनीति में आने का फैसला लिया है ताकि लोगों की सेवा और मदद भी कर सकूं.

इसे भी पढ़ें-पेट्रोल डीजल में 12वे दिन टिकाव

अब मिले तो राजनीति पर नहीं करेंगे चर्चा

मनोज ने कहा है कि वो अशोक को काफी पहले से जानते हैं. उन्होंने बताया कि स्कूल के दिनों में भी वे साथ ही क्रिकेट खेला करते थे. आज भी अशोक और मनोज एक हाउसिंग कांप्लेक्स(Housing complex) में रहते हैं. मनोज ने कहा कि अब भी हम पहले की ही तरह मिलते रहेंगे. लेकिन अब कभी भी मिलने और बातचीत के दौरान राजनीति पर चर्चा नहीं होगी. उन्होंने कहा मेरे विचार में मैंने जो भी कहा है उससे अशोक भी सहमत (Agreed) होंगे.

इसे भी पढ़ें-अस्पताल में भर्ती हुईं ममता, पैर पर चढ़ा प्लास्टर

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *