nayaindia Narada Sting Case: तृणमूल नेताओं की जमानत पर सुनवाई टली - Naya India
देश | पश्चिम बंगाल | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

Narada Sting Case: तृणमूल नेताओं की जमानत पर सुनवाई टली

Judge Appointed Court News :

कोलकाता। नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तार किए गए तृणमूल कांग्रेस के चार नेताओं की जमानत के मामले पर सुनवाई टल गई है। अब हाई कोर्ट के पांच जजों की बेंच 26 मई को इस पर सुनवाई करेगी। इससे पहले दो जजों की बेंच में सुनवाई हुई थी और जमानत पर सहमति नहीं बन पाई थी। इसलिए चारों नेताओं को उनके घर में ही नजरबंद रखने का फैसला सुनाया गया था। सीबीआई ने नजरबंदी के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

बहरहाल, कलकत्ता हाई कोर्ट के पांच जजों की बड़ी बेंच के सामने सोमवार को यह मामला रखा गया था। लेकिन अदालत ने इस पर सुनवाई टाल दी। गौरतलब है कि सीबीआई ने नजरबंदी के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है और सुप्रीम कोर्ट से हाई कोर्ट में होने वाली सुनवाई को भी टालने का आदेश देने की मांग की है।

असल में, कलकत्ता हाई कोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस राजेश बिंदल की अध्यक्षता वाली बेंच ने राज्य सरकार के दो मंत्रियों, एक विधायक और एक अन्य नेता को विशेष अदालत की ओर से दी गई जमानत का मामला सुना था। इस बेंच में शामिल जज जस्टिस अरिजित बनर्जी ने जमानत देने का समर्थन किया था, जबकि कार्यवाहक चीफ जस्टिस राजेश बिंदल ने इसका विरोध किया।

आखिर में बेंच ने आरोपी नेताओं को घर पर नजरबंद रखने का निर्देश दिया। बेंच ने जजों के बीच मतभेद को देखते हुए इस मामले को पांच सदस्यों की बड़ी बेंच में भेजने का भी फैसला किया था। पांच जजों की बेंच में जस्टिस बिंदल और जस्टिस बनर्जी के अलावा जस्टिस इंद्रप्रसन्न मुखर्जी, जस्टिस हरीश टंडन और जस्टिस सौमेन सेन शामिल हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

6 + nineteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कनाल भूमि अधिग्रहण पर नोटिस
कनाल भूमि अधिग्रहण पर नोटिस