West Bengal Election 2021 : अमित शाह ने कहा कि BJP के सत्ता में आने के बाद गोरखा समस्या का होगा समाधान - Naya India
देश | पश्चिम बंगाल| नया इंडिया|

West Bengal Election 2021 : अमित शाह ने कहा कि BJP के सत्ता में आने के बाद गोरखा समस्या का होगा समाधान

दार्जिलिंग। पश्चिम बंगाल में विधानसभा के चुनाव जारी है और चुनाव प्रचार (Election Campaign) का पूरा माहौल बना हुआ है केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने पश्चिम बंगाल में भाजपा (BJP) के सत्ता में आने पर लंबे समय से चली आ रही ‘गोरखा समस्या’ (Gorkha Problem) का राजनीतिक समाधान ढूंढने का आज आश्वासन दिया।

अमित शाह (Amit Shah) ने यहां एक जनसभा के दौरान कहा कि देश का संविधान ‘विस्तृत’ है और इसमें सभी समस्याओं के हल का प्रावधान है। अमित शाह ने कहा कि मैं वादा करता हूं कि भाजपा (BJP) की डबल इंजन की सरकार – एक केंद्र में और दूसरी बंगाल में- गोरखा समस्या (Gorkha Problem) का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाल लेगी। आपको अब प्रदर्शनों का सहारा नहीं लेना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें – West Bengal Assembly Election: ममता के बाद भाजपा नेता राहुल सिन्हा पर चला चुनाव आयोग डंडा, लगाया 48 घंटे का बैन

हालांकि, शाह ने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह किस समस्या की बात कर रहे हैं। गोरखा समुदाय बहुत समय से एक अलग राज्य की मांग कर रहा है और पिछले कुछ वर्षों में कई आंदोलन भी किए गए। गोरखा समुदाय को भारत (India) का गौरव बताते हुए शाह ने कहा कि कोई उन्हें नुकसान नहीं पहुंचा सकता।

उन्होंने कहा कि अभी के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजी ( NRC) लागू करने की कोई योजना नहीं है। अगर ऐसा कुछ होता भी है तो गोरखा समुदाय को इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं है। शाह ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने दार्जिलिंग में विकास कार्य पर ‘‘पूर्ण विराम’’ लगा दिया है और कहा कि यह वह स्थान है जहां सत्तारूढ़ टीएमसी के नेता फुर्सत में आते हैं।

इसे भी पढ़ें – Bengal Election 2021: बंगाल में ताबतोड़ चुनावी रैलियों के साथ ही बढ़ रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 1.7 फीसदी पहुंची मृत्यु दर

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) हाल के दिनों में कई बार दार्जिलिंग आई थीं लेकिन उन्होंने क्षेत्र की तीन विधानसभा सीटों के लिए कोई प्रचार नहीं किया। क्षेत्र में 17 अप्रैल को मतदान होगा। शीर्ष भाजपा (BJP) नेता ने दावा किया कि टीएमसी (TMC) सु्प्रीमो ने ‘‘कुछ’’ गोरखाओं के खिलाफ आपराधिक मामला चलवाकर भाजपा और गोरखा समुदाय के बीच सौहार्दपूर्ण संबंधों को खराब करने की कोशिश की।

अमित शाह (Amit Shah) ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि दीदी ने कई की हत्या करवाई और कई के खिलाफ मामले चलवाए। भाजपा (BJP) सत्ता में आने के बाद, ऐसे लोगों के अपराध क्षमा करेगी। भाजपा (BJP) के पूर्व सहयोगी, जीजेएम नेता बिमल गुरुंग 2017 में हिंसक आंदोलन का कथित तौर पर नेतृत्व करने के बाद उनके खिलाफ लगाए गए कई आपराधिक आरोपों के बाद बहुत दिन तक छिपे रहे थे।

पिछले साल अक्टूबर में सामने आने के बाद उन्होंने टीएमसी से हाथ मिला लिया था। राज्य प्रशासन ने इनमें से कुछ मामलों को वापस लेने के लिए अब अदालत का रुख किया है।

इसे भी पढ़ें – Bengal Election 2021 : चुनाव आयोग के खिलाफ सीएम ममता बनर्जी धरने पर बैठी, TMC सांसद ने कहा लोकतंत्र के लिए काला दिन

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *