• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

West Bengal Election 2021 : EC ने ममता बनर्जी को एक और कारण बताओ नोटिस जारी किया

Must Read

कोलकाता। चुनाव आयोग (EC) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) को फिर से कारण बताओ Notice जारी किया है। इस Notice के माध्यम से झूठे, भड़काऊ और तीखे बयान देकर केंद्रीय बलों की छवि को धूमिल करने के कुत्सित प्रयास पर ममता बनर्जी से लिखित रूप में स्पष्टीकरण मांगा गया है। चुनाव आयोग (Election Commission) की ओर से एक सप्ताह के अंदर तृणमूल कांग्रेस (TMC) सुप्रीमो को दूसरी बार नोटिस भेजा गया है।

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को बुधवार को एक Notice जारी किया गया था, जिसमें चुनाव आयोग (EC) ने राज्य में मौजूदा विधानसभा चुनावों में अपनी पार्टी के लिए सांप्रदायिक आधार पर वोटों की खुली मांग के संदर्भ में लिखित स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।

इसे भी पढ़ें :-Bihar : RJD नेता तेजस्वी यादव ने राज्यपाल को पत्र लिखकर अलोकतांत्रिक सरकार को बर्खास्त करने की मांग की

चुनाव आयोग (EC) के ताजा नोटिस में CM से 10 अप्रैल को सुबह 11 बजे से पहले आयोग को अपना लिखित स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। नोटिस में यह भी लिखा गया है कि अगर उन्होंने निर्धारित समय तक अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत किया तो आयोग उन्हें सूचित किए बगैर निर्णय लेगा।

CM को भेजे गए दो पन्नों के नोटिस में आयोग ने उल्लेख किया है कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) के CEO द्वारा 28 मार्च को किए गए मुख्यमंत्री (CM) के भाषण की एक प्रामाणिक प्रतिलेख के साथ एक रिपोर्ट में कहा गया है, किसने उन्हें इतनी शक्ति दी कि केंद्रीय पुलिस महिलाओं को वोट डालने की अनुमति दिए बिना धमकी दे रही है। मैंने 2019 में भी यही देखा। मैंने 2016 में भी यही देखा।

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा, मुझे पता है कि किसके निर्देश के तहत उन्होंने मारपीट की और किस तरह उन्होंने मारपीट की। लोगों के परिवार को बचाना आपका कर्तव्य है। यदि आपकी माता और बहनों में से किसी को भी एक छड़ी से भी चोट लगी हो तो उन पर हमला करें..मैं आपसे कह रही हूं। यह महिलाओं का अधिकार है। और, अगर हमारी माताओं और बहनों में से किसी को भी वोटिंग कंपार्टमेंट में प्रवेश से वंचित किया जाता है, तो आप बाहर आएं और बगावत करें।

इसे भी पढ़ें :-Delhi : महिला आयोग ने झारखंड की नाबालिग लड़की को करोल बाग के चन्ना मार्केट से बचाया

Notice में कहा गया है कि चुनाव आयोग (Election Commission) का कहना है कि आपके बयान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के साथ-साथ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 186, 189 और 505 का उल्लंघन करते हैं।

इसे भी पढ़ें :-Solar Energy का बड़ा हब बनने की तैयारी में उत्तर प्रदेश, योगी सरकार ने की नई नीति तैयार

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जाने सत्य

Latest News

AAP नेता और पूर्व विधायक Jarnail Singh का कोरोना से निधन, पी चिदंबरम पर जूता फेंक आए थे चर्चा में

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना ( COVID-19 ) से कोहराम मचा हुआ है. अब दिल्ली में आम आदमी पार्टी...

More Articles Like This