कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश

Baba Ramdev की हो गई इंटरनेशनल किरकिरी, जानें क्या रहा कारण

नई दिल्ली| योग गुरु बाबा रामदेव के दिन इन दिनों कुछ खास सही नहीं चल रहे हैं. पहले तो मॉडर्न चिकित्सा पद्धति पर विवादित बयान देने के बाद बाबा रामदेव की खूब फजीहत हुई. इसके बाद अब बाबा रामदेव की इंटरनेशनल बेइज्जती भी हो गई है. दरअसल, बाबा रामदेव ने भारत के पड़ोसी देश नेपाल को पतंजलि की कोरोनिल किट गिफ्ट में दी थी. बाबा रामदेव को बड़ा झटका देते हुए नेपाल सरकार ने इसके वितरण पर रोक लगा दी है. इस संबंध में नेपाल सरकार की ओर से कहा गया है कि बाबा रामदेव की कोरोनिल किट में कोरोना संक्रमण को रोकने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं , इसीलिए यह निर्णय लिया गया है.

कोरोनिल के प्रभावी होने के नहीं मिलते हैं साक्ष्य

नेपाल की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नेपाल के आयुर्वेदिक और वैकल्पिक दवा विभाग ने एक आदेश में कहा है कि कोरोनिल किट के संबंध में अब तक ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है जिससे यह स्पष्ट हो सके कि यह कोरोना संक्रमित व्यक्ति के लिए लाभकारी है. यह बता दे कि पतंजलि शुरू से ही दावा कर रही है कि कोरोनिल कोरोना से लड़ने में काफी मददगार है. नेपाल की सरकार की ओर से कहा गया है कि कोरोनिल किट में शामिल टैबलेट और नाक में डाला जाने वाला तेल कोरोना वायरस लड़ने वाली दूसरी दवाओं के आस-पास नहीं है.

इसे भी पढ़ें-  माननीय प्रधानमंत्री, कृपया कर अपने संबोधन में ‘फ्री’ या मुफ्त ना कहें, दिल जलता है… (भाग -2)

IMA से विवाद के बाद सुर्खियों में आए थे बाबा रामदेव

करुणा काल में बाबा रामदेव खबरों में छाए रहे हैं. IMA के साथ विवाद हो या फिर बाबा रामदेव द्वारा मॉडर्न चिकित्सा पद्धति पर दिया गया विवादित बयान. बाबा रामदेव हमेशा ही सुर्खियों में रहे. हालांकि इस बार बाबा रामदेव को कोई सकारात्मक वाहवाही नहीं मिली . बता दें कि अब एक बार फिर से बाबा रामदेव ने ऐलान किया है कि 1 सप्ताह के अंदर बलैक और वाइट फंगस की दवा मार्केट में लाएंगे. अब ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा कि बाबा रामदेव इसमें कितने सफल होते हैं.

इसे भी पढ़ें- कोरोना काल में यहां शुरू हुआ ‘सोशल डिस्टेंसिंग वाला डांस’, नहीं सुना होगा आपने

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *