कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Big statement of state governments : अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन के लिए तड़पते मरीज और सरकार का कहना ऑक्सीजन की कमी के कारण एक भी मौत नहीं..

अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन के लिए तड़पते मरीज और सरकार का कहना ऑक्सीजन की कमी के कारण एक भी मौत नहीं..

Big statement of state governments

हॉस्पिटल के बाहर ऑक्सीजन के लिए मरीज तड़प रहे थे कई ने हॉस्पिटल के बाहर जान भी दे दी थी। दूसरी लहर को दौरान अस्पताल क बाहर खड़े कई मरीजों द्वारा यह बोला गया था कि ऑक्सीजन की कमी के कारण हमारे परिवार वालों की जान जा रही है। ( Big statement of state governments ) इसके बाद केंद्र और राज्य सरकार यह कह रही है कि दूसरी लहर में एक भी मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हपई है। हाल ही में केंद्र सरकार ने संसद में यह दावा किया था कि देश में कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत दर्ज नहीं हुई है। इसके बाद अब राज्य भी इसी स्वर में केंद्र से ताल से ताल मिला रहे है। केंद्र सरकार के बाद अब मंगलवार को तमिलनाडु सरकार ने यह ऐलान कर दिया कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी के कारण एक भी जान नहीं गई है। इसके बाद मध्य प्रदेश और बिहार सरकार भी पीछे नहीं रहीं है। मध्य प्रदेश और बिहार ने भी कह दिया है हमारे राज्य में भी दूसरू लहर के अंतर्गत कोई मौत नहीं हुई है।

also read: ममता ने फिर पीएम मोदी को कहा तानाशाह, बोलीं- BJP को सत्ता के बाहर करने तक जोरी रहेगा ‘खेला’

केंद्र से भरपूर मिल रहीं थी ऑक्सीजन ( Big statement of state governments )

तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्ण ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि राज्य में दूसरी लहर में कोई मौत ऑक्सीजन की कमी से दर्ज नहीं हुई है। ( Big statement of state governments ) हमने सरकारी और निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं होने दी। ऑक्सीजन सप्लाई के लिए एक अलग से टीम तैनात कर रखी है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम. सुब्रमणियम ने भी यही दावा किया और कहा कि उन्हें केंद्र से पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही थी।  इसलिए राज्य में ऑक्सीजन को लेकर कोई असर नहीं हुआ।

मध्य प्रदेश और बिहार की भी यही बयानबाजी

मध्य प्रदेश के मेडिकल एजुकेशन मिनिस्टर विश्वास सारंग ने भी यही बयान दिए है कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई जान नहीं गई है। ( Big statement of state governments ) बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने भी यही बयान ज़ारी किया है कि दूसरी लहर के दौरान हमने दबाव के बावजूद बेहतर प्रबंधन किए। हमें केंद्र का भरपूर सहयोग मिला और हमने मिलने वाले ऑक्सीजन की मात्रा में भी बढ़ोतरी की। हमने सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई की। कांग्रेस लोगों की मदद नहीं करना चाहती। कांग्रेस का काम केवल संसद में मुद्दे उठाती है।

ऑक्सीजन की मांग को किया पूरा ( Big statement of state governments )

बता दें कि स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने मंगलवार को बताया कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के अंतराल किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है। उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। ( Big statement of state governments )  उन्होंने यह भी बताया कि कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की मांग अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई थी। जिस मांग को हमने केंद्र सरकार की मदद से पुरा किया।  महामारी की पहली लहर के दौरान, इस जीवन रक्षक गैस की मांग 3095 मीट्रिक टन थी जो दूसरी लहर के दौरान बढ़ कर करीब 9000 मीट्रिक टन हो गई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भारत में ऐसा भी होता है!