chardham yatra starts : उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यु के साथ शुरु हुई चारधाम यात्रा, जानें क्या रहेगी पाबंदियां - Naya India
देश | उत्तराखंड | कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | लाइफ स्टाइल | धर्म कर्म| नया इंडिया|

chardham yatra starts : उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यु के साथ शुरु हुई चारधाम यात्रा, जानें क्या रहेगी पाबंदियां

देहरादून। कोरोना के मामले कम होने के साथ सभी राज्यों ने अपने-अपने स्तर पर छूट देनी शुरु कर दी है। ताजा मामला उत्तराखंड से जुड़ा है। खुशखबरी यह है कि विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा भी श्रद्धालुओं के लिए खोल दी गई है। अब श्रद्धालु भी चारधाम यात्रा के दर्शन कर सकेंगे। इससे पहले चारोंधाम के कपाट तो खुले थे लेकिन श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं थी। लेकिन डराने वाली बात यह भी है कि चारधान यात्रा कुंभ की तरह कोरोना स्प्रेडर ना बन जाए। इसके लिए यात्रियों को ही इस बात का ध्यान रखना पड़ेगा। कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए चारधाम यात्रा में सम्मिलित हो। उत्तराखंड सरकार ने कोरोना कर्फ्यु को एक और हफ्ते पोस्टपोन कर दिया गया है। कोरोना के कर्फ्यु को 22 जून की सुबह तक बढ़ा दिया गया है।

इन लोगों के लिए हुआ चारधाम यात्रा का शुभारंभ

चारधाम यात्रा केवल ज़िला स्तर पर खोली गई है। फिहाल इस यात्रा में देश-विदेश के लोग सम्मिलित नहीं हो पाएंगे। बद्रीनाथ धाम की यात्रा चमोली ज़िले के लोगों के लिए, केदारनाथ धाम की यात्रा रुद्रप्रयाग ज़िले और गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा केवल उत्तरकाशी ज़िले के लोगों के लिए खोली गई है। गाइडलाइन के मुताबिक स्थानीय लोगों को भी धाम में प्रवेश करने के लिए कोविड की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य की गई है। कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए चारधाम यात्रा में अनुशासन बनाएं रखना होगा अन्यथा उन पर कार्यवाही की जाएगी। इससे पहले चारोंधाम में केवल पुजारी लोग ही पुजा-अर्चना करते थे। पट खुलते समय भी पुजारी के साथ कुछ लोगों की ही जाने की अनुमति थी। अभी जिला स्तर के लोगों के लिए यात्रा का शुभारंभ हुआ है।

उत्तराखंड में कोरोना के एक्टिव मामले साढ़े चार हज़ार

कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने 25 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू किया था। पहले शहरी क्षेत्रों में नाइट कर्फ्यू की शुरुआत की गई। लेकिन फिर भी संक्रमण बढ़ने लगा तो पूरे राज्य में 11 मई से कंप्लीट कर्फ्यू लगाया गया था। लेकिन राहत की बात यह है कि पूरे देश में कोरोना संक्रमण कम होने लगा है तो कोरोना की पाबंदियों में छूट मिलने लगी है। सभी सरकारें धीरे-धीरे अनलॉक की ओर बढ़ रही है। जनजीवन पहले की तरह चलने लगा है। उत्तराखंड में कोरोना के एक्टिव मामले साढ़े चार हज़ार है। रविवार को सबसे कम 263 नए मामले सामने आए, जबकि सात सौ से अधिक मरीज़ रिकवर होकर घर लौटे।

इन छूट के साथ खुलेंगे बाजार

सरकारी प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने बताया कि मार्केट पहले की तरह प्रतिबंधों के साथ हफ्ते में तीन दिन खुलेंगे। केवल मिठाई की दुकानों को सप्ताह में पांच दिन खोले जाने की छूट दी गई है। इसके अलावा शादी, समारोह में भी छूट दी गई है। शादी समारोह में लोगों की संख्या 20 से बढ़ाकर 50 कर दी गई है लेकिन यहां भी आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपेार्ट अनिवार्य होगी। इसके अलावा राजस्व कोर्ट को भी खोलने की अनुमति मिली है। एक दिन में अधिकतम बीस वाद के लिए ही कोर्ट खुली रहेगी। नई एसओपी में टैम्पो और विक्रम संचालकों को भी राहत दी गई है। टैम्पो और विक्रम संचालक पूरी कैपेसिटी के साथ सवारियां ले जा सकेंगे। बॉर्डर पर अब भी आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य रहेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *