Corona New Variant 'Delta Plus': कोरोना का नया वेरियंट आया सामने, वैज्ञानिकों ने कही ये बात - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

Corona New Variant ‘Delta Plus’: कोरोना का नया वेरियंट आया सामने, वैज्ञानिकों ने कही ये बात

दिल्ली | Corona New Variant ‘Delta Plus’ : दुनिया में महामारी फैलाकर लाखों लोगों की जान लेने वाला आजतक का सबसे खतरनाक कोरोना वायरस अपना रूप बदलने में भी माहिर है। दुनिया के कई देशों में अलग-अलग रूप बदलकर इस वायरस ने तहलका मचाया है। भारत में भी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के लिए डेल्टा वेरियंट को (Delta Plus) जिम्मेदार बताया गया है। लेकिन वैज्ञानिकों ने फिर से एक खुलासा करते हुए बताया है कि कोरोना के इस डेल्टा वायरस (Delta Virus) ने एक बार फिर से रूप बदल लिया है। हर बार की तरह वायरस का नया वेरियंट और खतरनाक रूप लेकर सामने आ रहा है। डेल्टा के इस नए वेरियंट का नाम ‘डेल्टा प्लस’ या ‘एवाई 1’ है।

ये भी पढ़ें:- जब मुंह का बिगड़ने लगे स्वाद, तो हो जाए सावधान, इस गंभीर बीमारी के हो सकते हैं लक्षण

हालांकि, वैज्ञानिकों ने माना है कि भारत में इसे लेकर चिंतित होने की कोई बात नहीं है क्योंकि देश में अब इसके बेहद कम मामले हैं। वैज्ञानिकों ने शोध में पाया है कि ये ‘डेल्टा प्लस’ वेरियंट, वायरस के डेल्टा या बी1.617.2 प्रकार में उत्परिवर्तन होने से बना है जिसकी पहचान पहली बार भारत में हुई थी और यह महामारी की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार था।

हालांकि वैज्ञानिकों ने अभी यह खुलासा नहीं किया है कि नए वेरियंट के कारण बीमारी कितनी घातक हो सकती है इसका अभी तक कोई संकेत नहीं मिला है। डेल्टा प्लस उस मोनोक्लोनल एंटीबाडी कॉकटेल उपचार का रोधी है जिसे हाल ही में भारत में स्वीकृति मिली है।

ये भी पढ़ें:- Work from home के दौरान मानसिक तनाव का शिकार हो गए है तो इन तरीकों से करें दूर..

दिल्ली स्थित सीएसआईआर-जिनोमिकी और समवेत जीव विज्ञान संस्थान (IGIB) में वैज्ञानिक विनोद स्कारिया ने ट्वीट कर जानकारी दी कि, ‘के417एन उत्परिवर्तन के कारण बी1.617.2 वेरियंट बना है जिसे एवाई 1 के नाम से भी जाना जाता है।’ यह उत्परिवर्तन सार्स सीओवी-2 के स्पाइक प्रोटीन में हुआ है जो वायरस को मानव कोशिकाओं के भीतर जाकर संक्रमित करने में सहायता करता है। हालांकि भारत में इसके ज्यादा होने के संकेत नहीं है। यह ज्यादातर यूरोप, एशिया और अमेरिका से सामने आए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *