nayaindia Vaccination Drive : कहीं आप से अस्पताल वाले तो नहीं ले रहे vaccine के ज्यादा पैसे, देखें रिपोर्ट - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश | पते की बात| नया इंडिया|

Vaccination Drive : कहीं आप से अस्पताल वाले तो नहीं ले रहे vaccine के ज्यादा पैसे, देखें रिपोर्ट

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लोगों को फ्री वैक्सीनेशन की सौगात दी है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि प्राइवेट अस्पतालों में भी कोरोना वैक्सीन के उत्पादन का 25% हिस्सा मिलता रहेगा. यदि कोई समर्थ व्यक्ति चाहे तो निजी अस्पतालों में जाकर कोरोना की वैक्सीन लगवा सकता है. पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान कहा था कि देश के सभी 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग कोरोना के फ्री टीके के हकदार हैं. लेकिन निजी अस्पतालों में टीका लेने वालों को पैसे देने होंगे. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस वैक्सीन के लिए आपको कितने पैसे देने होंगे.

₹150 से ज्यादा नहीं ले सकते सर्विस चार्ज

भारत सरकार द्वारा निजी अस्पतालों को स्पष्ट कहा गया है कि अस्पताल सेवा शुल्क के नाम पर डेढ़ ₹150 से ज्यादा चार्ज नहीं किया जा सकता है. स्पष्ट है कि जीएसटी मिलाकर अधिक से अधिक साथ अस्पताल ₹180 का चार्ज कर सकता है. इस स्थिति में देश के नागरिकों को कोविशिल्ड के लिए ₹780 कोवैक्सीन के लिए 1470 रुपए और स्पूतनिक वी के लिए 1145 रुपए देने होंगे.

इसे भी पढ़ें- अब बड़े “खेला” की तैयारी : ममता बनर्जी से मिलेंगे राकेश टिकैट तो शुभेंदु पहुंचे पीएम मोदी के पास

वैक्सीन की अधिकतम कीमत क्या

भारत सरकार द्वारा कोविशिल्ड वैक्सीन की एक डोज निजी अस्पतालों में ₹600 में दी जा रही है. इसका मतलब है कि अस्पताल प्रबंधन इसके लिए ₹780 से ज्यादा नहीं ले सकता है. इसी प्रकार को वैक्सीन की एक डोज निजी अस्पतालों में 1200 में दी जा रही है जिस पर ₹60 का जीएसटी और सर्विस चार्ज ₹150 का सर्विस चार्ज मिलाकर इसकी कीमत ₹1410 होती है. रूस से आई Sputnik V ₹948 में निजी अस्पतालों को दी जा रही है. इस पर ₹47 का जीएसटी और ₹150 का सर्विस चार्ज जोड़कर इसकी कीमत 1145 रुपए हो जाती है.

इसे भी पढ़ें-  ATM से बार-बार पैसा निकाला तो देना होगा शुल्क, अब बदलने वाले हैं SBI बैंक के कई नियम 

Leave a comment

Your email address will not be published.

eleven − 6 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ग्लोबल वार्मिंग: यूएन की चेतावनी, नहीं सुधरे तो भयावह होंगे हालात
ग्लोबल वार्मिंग: यूएन की चेतावनी, नहीं सुधरे तो भयावह होंगे हालात