जॉनसन एंड जॉनसन की Covid 19 Vaccine को झटका! FDA ने चेतावनी दी चेतावनी
कोविड-19 अपडेटस | विदेश| नया इंडिया| जॉनसन एंड जॉनसन की Covid 19 Vaccine को झटका! FDA ने चेतावनी दी चेतावनी

जॉनसन एंड जॉनसन की Covid 19 Vaccine को झटका! FDA ने दी ये चेतावनी

Covid 19 Vaccination

नई दिल्ली | जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) को लेकर चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। अमेरिका में FDA ने चेतावनी दी है कि इस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के प्रयोग से लकवा आने का खतरा बढ़ सकता है। एफडीए की इस चेतावनी के बाद वैक्सीन को काफी बड़ा झटका लगा है। जिसके बाद से जॉनसन एंड जॉनसन के टीके पर सवाल उठने लगे हैं। अमेरिका में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को लेकर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने चेतावनी जारी की है। संस्था के अनुसार, इस वैक्सीन से दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति गुलियन बेरी सिंड्रोम का खतरा बढ़ सकता है।

ये भी पढ़ें:- Corona update: संक्रमण में रिकार्ड कमी, 24 घंटे में संक्रमितों की संख्या 34 हजार के करीब

पहले खून के थक्के जमने को लेकर दी थी चेतावनी
यह पहली बार नहीं है जब जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson & Johnson) के टीके पर सवाल खड़े किए गए हैं। इससे पहले भी वैक्सीन के प्रयोग के बाद खून के थक्के जमने की खबरें सामने आ चुकी हैं। अप्रेल में एफडीए ने इस वैक्सीन को लेकर कम प्लेटलेट्स के साथ खून के थक्के जमने को लेकर चेतवानी जारी की थी।

ये भी पढ़ें:- MP Board 10th Result 2021 को लेकर बड़ी खबर! जारी होने वाला हैं रिजल्ट

हालांकि न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, नियामकों ने पाया कि इस तरह की स्थिति विकसित होने की संभावना कम है। अमेरिका की आबादी की तुलना में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन लेने वालों में इसकी संभावना 3 से 5 गुना ज्यादा दिखाई देती है। अमेरिका में पूरी तरह Vaccine प्राप्त कर चुकी करीब 1.28 करोड़ आबादी को जॉनसन एंड जॉनसन का टीका लगा है।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan में Covid 19 से अबतक की सबसे बड़ी राहत, 24 घंटे में सिर्फ 33 केस, एक भी मौत नहीं

मांसपेशियां कमजोर होने का खतरा
एफडीए के मुताबिक, अधिकारियों को टीका लेने वाले लोगों में गुलियन बेरी सिंड्रोम (Guillain Barré Syndrome) के 100 संदिग्ध मामले मिले हैं। इनमें से 95 फीसदी मामलों को गंभीर माना गया है। एफडीए के अनुसार, गुलियन बेरी सिंड्रोम तब होता है, जब इम्यून सिस्टम नर्व सेल्स को नुकसान पहुंचाता है, जिससे मांसपेशियां कमजोर हो जाती है और कई बार लकवा भी हो जाता है। अमेरिका में प्रति 10 लाख लोगों में करीब 10 को यह परेशानी सामने आई है। हालांकि, अधिकतर लोग इस परेशानी से निजात भी पा जाते हैं।

ये भी पढ़ें:- Yogi’s boom in Australia : ऑस्ट्रेलिया में भी सीएम योगी आदित्यनाथ की धूम, सांसद ने कहा- क्या हमें उधार में मिल सकते हैं योगी…

वहीं दूसरी ओर, सोमवार को अमेरिका ने नेपाल को जॉनसन एंड जॉनसन टीके की 15 लाख से अधिक खुराक दी। नेपाल में कोरोना टीकों की गंभीर कमी के चलते अमेरिका ने मदद के तौर पर कोवाक्स योजना के जरिये नेपाल को 15,34,850 खुराक दी है। अमेरिकी राजदूत रैंडी बेरी ने स्वास्थ्य मंत्री कृष्ण गोपाल श्रेष्ठ को ये खुराक सौंपी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *