vaccine for childrens : भारत में 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों के लिए आई वैक्सीन, DGCI से मांगी आपात इस्तेमाल की मंजूरी
कोविड-19 अपडेटस | देश| नया इंडिया| vaccine for childrens : भारत में 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों के लिए आई वैक्सीन, DGCI से मांगी आपात इस्तेमाल की मंजूरी

good news : भारत में 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों के लिए आई वैक्सीन, DGCI से मांगी आपात इस्तेमाल की मंजूरी

vaccine for childrens

vaccine for childrens  : भारत में कोरोना वायरस ने बड़ों से लेकर बच्चों तक सभी की जान ली है। बुजुर्गों और युवाओं के लिए वैक्सीन आ गई है और लगाई भी जा रही है। लेकिन अब एक कंपनी ने बच्चों के लिए वैक्सीन बना ली है। और DGCI से आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी मांगी है। कोरोना से लड़ने के लिए बच्चों के लिए भी हथियार आ चुका है। अगर मंजूरी मिल गई और सब ठीक रहा तो बच्चों को भी वैक्सीन लगानी शुरु हो जाएगी। बेंगलुरु बेस्ड फार्मास्युटिकल कंपनी जायडस कैडिला ने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी डीसीजीआई से 12 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए अपनी डीएनए वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मांगी है। बता दें कि वैक्सीन के तीनों चरणों का ट्रायल पूरा हो चुका है। अगर इस वैक्सीन को मंजूरी मिल जाती है तो बच्चों के लिए वैक्सीन का अभियान जल्द शुरु होगा।

also read: जुलाई में 15 दिन रहेगा बैंकों में अवकाश, विजिट करने से पहले जान लें कब-कब रहेगी छुट्टी

वैक्सीन Zycov-D ने आपात इस्तेमाल की मांग की ( vaccine for childrens )

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार जायडस कैडिला ने भारत के टॉप दवा नियामक ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के समक्ष आवेदन दिया है। जिसमें उसने अपनी डीएनए वैक्सीन Zycov-D के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी की मांग की है। जायडस कैडिला ( vaccine for childrens ) की यह वैक्सीन 12 वर्ष की आयु और उससे ऊपर के लोगों के लिए है। कंपनी ने वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल का डेटा प्रस्तुत किया है, जिसमें 28,000 से अधिक वॉलंटियरों ने भाग लिया था। रॉयटर्स की मानें तो अंतरिम डेटा में वैक्सीन सुरक्षा और प्रभावकारिता के मानकों पर खड़ी उतरी है।

vaccine for childrens

Zycov-D टीका 12 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए सुरक्षित

जायडस कैडिला की वैक्सीन के तीसरे चरण के क्लिनिकल परीक्षण ( vaccine for childrens ) डेटा से पता चलता है कि Zycov-D टीका 12 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के लिए सुरक्षित है। कंपनी ने सालाना कोरोना टीकों की 100-120 मिलियन खुराक बनाने की योजना बनाई है। गौरतलब है कि कोविड वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने कहा है कि जायडस कैडिला वैक्सीन का ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है। जुलाई के अंत तक या अगस्त में, हम 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका देना शुरू कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow