कोरोना मरीजों में मिला हर्पीज़ सिम्पलेक्स वायरस, डॉक्टर्स ने बताया बेहद खतरनाक

Must Read

गाजियाबाद: भारत में कोरोना वायरस ने अपना अलग-अलग रूप दिखाया है। कभी ब्‍लैक फंगस कभी व्‍हाइट तो कभी यलो फंगस। सबसे ज्यादा घातक ब्लैक फंगस ही  रहा है। इसने कोरोना के बाद सबसे ज्यादा मरीजों की जान ली है।  दिल्ली से सटे यूपी के गाजियाबाद में एक नया वायरस मिला है जिसका नाम है – हर्पीज़ सिम्पलेक्स वायरस। यह पुरे देश में पहला मामना है। डॉक्टर्स ने इसे बेहद खतरनाक बताया है। कोरोना वायरस अपने साथ अलग-अलग घातक बीमारियां लेकर आया है। कोरोना से ठीक हो रहे मरीजों में कई तरह की बीमारियां देखने को मिल रही है। कुछ समय पहले जब व्‍हाइट और यलो फंगस आया था तो डॉक्टर्स ने यब बात कही थी कि ब्लैक फंगस ही शरीर में अपना रंग बदल रहा है इसलिए यह फंगस शरीर में अलग रंग की दिखाई दे रही है।

also read: अजब-गजब: यूपी के एक अधिकारी ने मांग लिया भगवान राम का आधार कार्ड , जानें क्या है मामला

इसका इलाज भी काफी मंहगा है

डॉक्‍टरों मुताबिक, कोरोना के बाद जिनकी इम्‍युनिटी कम रहती है या फिर वह किसी अन्य बीमारी से ग्रसित हैं, उन्‍हें ये वायरस अपना शिकार बनाता है। जबकि इसका इलाज भी काफी महंगा है। साफ है कि देश में कोरोना वायरस के बाद ब्‍लैक फंगस, व्‍हाइट फंगस और यलो फंगस के बाद अब इस नए वायरस के मिलने से हड़कंप मचा हुआ है। जबकि इसे सबसे ज्‍यादा घातक बताया जा रहा है।

मरीज की नाक में मिला नया वायरस

गाजियाबाद के डॉक्टर बीपी त्यागी ने जानकारी देते हुए बताया कि गाजियाबाद में देश का पहला हर्पीज़ सिंपलेक्स वायरस पाया गया है, जोकि मरीज की नाक में पाया गया है। यह बेहद ही खतरनाक है। अगर इलाज में देरी की जाती है, तो यह कोरोना वायरस से भी ज्यादा घातक हो सकता है। डॉक्टर बीपी त्यागी ने बताया कि यह वायरस जिनकी इम्‍युनिटी कमजोर होती है या फिर दूसरी बीमारियों से ग्रसित होते हैं, उनके लिए यह ज्‍यादा घातक है। कोरोना वायरस अपने साथ जो बीमारियां लेकर आया है वह खतरनाक तो है ही लेकिन उनके लक्षण एक जैसे ही है। कोरोना भी कम इम्युनिटी वालों को ही होता है।

इस बीमारी की दवाइयां है मौजूद

डॉक्टर बीपी त्यागी के मुताबिक, गाजियाबाद के मोदीनगर के रहने वाले विवेक त्यागी को यह वायरस हुआ है, जिसका इलाज लगातार हमारे अस्पताल में किया जा रहा है। हालांकि इसका इलाज भी बेहद महंगा होता है। वैसे इस बीमारी की दवाइयां हमारे पास हैं, इसलिए विवेक का इलाज संभव है। इसके साथ डॉक्‍टर ने कहा कि लोगों को जागरूक होने की जरूरत है क्योंकि जो कोरोना वायरस से ठीक हो रहे हैं उन लोगों को इस तरह की बीमारी होने का पूरा खतरा बना हुआ है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

अब डीजल भी सौ के पार!

नई दिल्ली। पेट्रोल के बाद अब डीजल की कीमत ने भी सौ रुपए प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर...

More Articles Like This