Maharashtra Schools Reopen: 4 अक्टूबर से सभी स्कूलों को खोल दिया जाएगा
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Maharashtra Schools Reopen: 4 अक्टूबर से सभी स्कूलों को खोल दिया जाएगा

Maharashtra Schools Reopen: महाराष्ट्र सरकार का 4 अक्टूबर से सभी स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला

मुंबई | Maharashtra Schools Reopen: कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला राज्य महाराष्ट्र अब कोरोना संक्रमण से राहत की ओर बढ़ रहा है। हालांकि देश के अन्य राज्य कोरोना संक्रमण से पहले ही उबर चुके हैं और वहां कोरोना को लेकर लगाई गई पाबंदियां भी अब न के बराबर रह गई है। ऐसे में कोरोना से राहत के बाद महाराष्ट्र सरकार ने भी लंबे समय से बंद पड़े स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला कर लिया है। महाराष्ट्र में 4 अक्टूबर से सभी स्कूलों को खोल दिया जाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपनी स्वीकृति दे दी है।

ये भी पढ़ें :- Civil Services Main 2020 Result: UPSC मुख्य परीक्षा का परिणाम घोषित, 545 पुरुष और 216 महिलाएं हुई पास, यहां चेक कर सकते हैं रिजल्ट

शहर और गांव में इस तरह से खुलेंगे स्कूल
महाराष्ट्र में स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड (Varsha Gaikwad) ने स्कूलों को फिर से खोलने की घोषणा करते हुए कहा कि, 4 अक्टूबर से सभी बंद स्कूलों को फिर से खोल दिया जाएगा। शहरी क्षेत्रों में स्कूल 8वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए खुलेंगे। जबकि, ग्रामीण क्षेत्रों में 5वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोल दिए जाएंगे।

delhi school reopen

गौरतलब है कि, कोरोना महामारी के चलते महाराष्ट्र में करीब डेढ़ साल से स्कूल बंद पड़े हैं। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते अभी सरकार के फैसले के अनुसार, छोटे बच्चों को अभी भी कुछ दिनों तक स्कूल खुलने का इंतजार करना होगा और घरों से ही ऑनलाइन क्लास लेनी होगी।

Open school in Jharkhand

स्कूल टीचर-विद्यार्थी-स्टाफ को करना होगा कोविड नियमों का पालन
महाराष्ट्र में सरकार ने स्कूलों को फिर से खोलने के फैसले के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना के भी निर्देश दिए हैं। सरकार के फरमान के मुताबिक स्कूल में बच्चों और शिक्षकों को कोरोना से जुड़े सभी उपायों का ध्यान रखना होगा। स्कूल प्रशासन बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग की पालन कराएगा। स्कूल में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था अनिवार्य है। अगर स्कूल में बच्चें ज्यादा हो तो अलग-अलग शिफ्टों में बुलाना होगा। इसी के साथ सभी शिक्षकों, स्कूल स्टाफ का वैक्नीनेशन अनिवार्य है।

ये भी पढ़ें :- SGPGI में नवबंर से शुरू हो जाएगा 210 बेड का इमरजेंसी विभाग, नहीं लगाने पड़ेंगे दूसरे अस्‍पतालों के चक्‍कर

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
राहुल गांधी से आज मिलेंगे गुजरात कांग्रेस के नेता, नए पीसीसी अध्यक्ष पर हो सकता है फैसला
राहुल गांधी से आज मिलेंगे गुजरात कांग्रेस के नेता, नए पीसीसी अध्यक्ष पर हो सकता है फैसला