nayaindia unlock rajasthan: 1 जून से अनलॉक होने जा रहा राजस्थान लेकिन तीसरी लहर से बचने के लिए रहना होगा ज्यादा सावधान - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

unlock rajasthan: 1 जून से अनलॉक होने जा रहा राजस्थान लेकिन तीसरी लहर से बचने के लिए रहना होगा ज्यादा सावधान

RAJASTHAN: पूरे देश के साथ राजस्थान में कोरोना के मामले कम होने शुरु हो गए है। इसी के साथ जिन राज्यों में लॉकडाउन लगा रखा था उनमें धीरे-धीरे अनलॉक की प्रक्रिया भी शुरु होने जा रही है। दिल्ली में आज से अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो चुकी है। राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित कई राज्य में अनलॉक की प्रक्रिया 1 जून से शुरु होगी। पिछले लॉकडाउन में जब पुरे देश को अनलॉक किया गया तो हम सभी इतने बेपरवाह हो गये थे निडर होकर जीने लगे थे। ये सोच बैठे कोरोना रूपी राक्षस कभी वापिस नहीं आएगा। लेकन हमारी लापरवाही के कारण कोरोना वायरस वापिस लौटा और दोगुनी ताकत के साथ। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने ऐसे-ऐसे भयावह मंजर दिखाये जिसकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की थी। इस बार जब अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो रही है तो हमें सतर्क होना पड़ेगा। इस बार हमारी लापरवाही कोरोना की तीसरी लहर का आगमन बनेगी। जब तक कोरोना के मामले ना के बराबर नहीं होते हमें डबल मास्क के साथ सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। अनलॉक के साथ हमें सावधान और सतर्क रहना होगा। जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण के मामले कम होने लगे है वैस-वैसे अनलॉक की प्रक्रिया शुरु होगी। लॉकडाउन में छूट मिलेगी।

सीएम गहलोत जल्द ज़ारी करेंगे नई गाइडलाइन

अनलॉक की प्रक्रिया में सावधानी से दुकानें खोलने की अनुमति दी जा सकती है। राज्य में कम होते कोरोना संक्रमण के बीच गहलोत सरकार 1 जून से मिनी अनलॉक की शुरुआत करने जा रही है। मिनी अनलॉक में बहुत ज्यादा छूट नहीं दी जाएगी। कुछ आवश्यक चीजों को ही छूट मिलेगी। अनलॉक के इस पहले फेज में बाजार में सीमित संख्या में दुकानों को खोलने की मंजूरी मिल सकती है। इसके साथ ही आवागमन में भी राहत मिल सकती है। गृह विभाग अनलॉक की गाइडलाइन तैयार करने में जुटा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एक दो दिन में उच्चस्तरीय बैठक कर अनलॉक की गाइडलाइन को मंजूरी दे सकते हैं। शिक्षण संस्थान फिलहाल बंद रहेंगे।

ऐसी थी कोरोना पर जंग जीतने की राह

मार्च 2020 में सबसे मुख्यमंत्री गहलोत ने ही सबसे पहले लॉडाउन लगाया था। और इस बार जब कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे तब भी राजस्थान सरकार ने कर्फ्यु से कोरोना पर जंग जीतने का सिलसिला शुरु किया था। राज्य सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए पहले जनअनुशासन पखवाड़ा, फिर रेड अलर्ट जनअनुशासन पखवाड़ा और उसके बाद 10 मई से 15 दिन का सख्त लॉकडाउन लागू किया गया था। बाद में उसे बढ़ाते हुए 8 जून कर दिया गया। पहले फेज में एक्सपर्ट्स ने कुछ बंदिशें ही हटाने का सुझाव दिया है। इसके आधार पर ही गाइडलाइन तैयार की जा रही है। कोरोना के मामले कम आने शुरु हुए है तो धीरे-धारे लॉकडाउन में छूट दी जाएगी।

 

पाबंदिया हटाने का कारण

लॉकडाउन के बाद कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में तेजी से गिरावट आई है।10 मई को संक्रमितों की संख्या 17 हजार के करीब थी वहीं अब यह संख्या साढ़े तीन हजार के करीब आ गई है। इसी वजह से सरकार मिनी लॉकडाउन का विकल्प चुन रही है। पहले चरण में कुछ चीजों को छूट मिलेगी। इसके बाद कोरोना संक्रमण के मामले देखें जाएगे अगर गिरावट का दौर ज़ारी रहा तो धीरे-धीरे सभी गतिविधियों में छूट दी जाएगी। सूत्रों कै मुताबिक, वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यु फिर से लगाया जा सकता है।  26 मई तक प्रदेश में 1,63,67,230 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। टीकाकरण का दौर ज़ारी है।

इन्हें मिलेगी रियायत

पहले चरण में फल सब्जी और किराना जैसी जरूरी चीजों को प्राथमिकता दी जायेगी। जनरल स्टोर, कपड़े की दुकानें, व्हीकल रिपेयरिंग वर्कशॉप खुल सकते हैं। किराना, खाद्य सामग्री की दुकानों के खुलने का समय बढ़ना तय। रेस्टोरेंट्स से होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। खाद, बीज और एग्रीकल्चर मशीनरी से जुड़ी दुकानें और वर्कशॉप का समय बढ़ेगा। निजी वाहनों के लिए पेट्रोल-डीजल लेने का समय बढ़ेगा। निजी वाहनों को शर्तों के साथ अनुमति संभव। गर्मी के सीजन को देखते हुए इलेक्ट्रोनिक्स की दुकानों को खोलने की मंजूरी। हाइवे पेट्रोल पंप, ढाबे, मोटर गैराज आदि खुल सकते हैं। अभी किराना दुकानों का समय सुबह 6 से 11 बजे है. इसे बढ़ाकर शाम 5 बजे तक किया जा सकता है। पहले से जिन दुकानों और गतिविधियों को छूट मिल रही हैं उनकी छूट का दायरा बढ़ाया जा सकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

eleven − 2 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पीएफआई पर एनआईए की बड़ी भारी कार्रवाई
पीएफआई पर एनआईए की बड़ी भारी कार्रवाई