कोवैक्सीन को  WHO ने नहीं दी थी मंजूरी , थर्ड फेज के क्लिनिकल ट्रॉयल में पाया गया 77.6 प्रतिशत प्रभावी - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

कोवैक्सीन को  WHO ने नहीं दी थी मंजूरी , थर्ड फेज के क्लिनिकल ट्रॉयल में पाया गया 77.6 प्रतिशत प्रभावी

नई दिल्ली |  भारत में लगाए जा रहे हैं कोरोना वैक्सीन को लेकर लंबे समय से विवाद चलता रहा है. कोविशील्ड और कोवैक्सीन में कौन बेहतर  है इस बात को लेकर अभी भी लोगों में संशय की स्थिति बनी हुई है. अब सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी ने कोवैक्सीन की तीसरी क्लिनिकल ट्रायल की समीक्षा की जिसमें उसको 77.6% प्रभावकारी पाया गया. समाचार न्यूज़ एजेंसी ANI की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि भी की गई है. बता दें कि हाल में तेजी से इस बात पर बहस छिड़ गई थी कि कौन सा टीका ज्यादा बेहतर कार्य करती है. हालांकि इस पर भारत बायोटेक ने अपनी नाराजगी भी जताई थी. अब समीक्षा के बाद उम्मीद की जा रही है कि कल विश्व स्वास्थ संगठन के सामने क्लिनिकल ट्रायल के नतीजे पेश किए जाएंगे.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नहीं दी थी इस्तेमाल की मंजूरी

भारत बायोटेक द्वारा तैयार की गई को वैक्सीन को देश में तो लगाया जा रहा है लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन में इसके इस्तेमाल की मंजूरी नहीं दी थी. डब्ल्यूएचओ के साथ ही अमेरिका ने भी इस वैक्सीन को अपने देश में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी नहीं दी थी. हालांकि यह और बात है कि भारत में सबसे पहले 2021 में सबसे पहले भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया के कोविशिल्ड को इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दी गई थी.

इसे भी पढ़ें –   Rajasthan : जब सरकार नाचना चाहे, तो सरकारी गाइडलाइन की छोड़िए जनाब ! सांसद और विधायक ने जमकर लगाए ठुमके

3 जनवरी को भारत में मिली थी आपातकाल प्रयोग की अनुमति

अब क्लिनिकल ट्रायल पूरे होने के बाद डब्ल्यूएचओ इस वैक्सीन के संबंध में क्या निर्णय लेता है  है तो देखने वाली बात होगी. लेकिन इतना जरूर है कि भारत में एक बड़ी आबादी को यह टीका लगाया जा चुका है. हालांकि विशेषज्ञों की मानें तो ये समीक्षा टीके के पक्ष में है और निश्चय ही लोगों को इससे फायदा हो रहा है. भारत में ड्रग कंट्रोलर से इस वैक्सीन के लिए 3 जनवरी को मंजूरी दी गई थी. इसके बाद से इसे टीकाकरण अभियान में शामिल कर लिया गया था.

इसे भी पढ़ें- आपके पास आ रहा है अजीबोगरीब नाम का वाई-फाई तो हो जाएं सावधान, अन्यथा आपका फोन हो जाएगा क्रैश..

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *