• [EDITED BY : Sitaram Gujjar] PUBLISH DATE: ; 16 May, 2019 12:58 PM | Total Read Count 49
  • Tweet
उल्फा(आई) के तीन उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया

गुवाहाटी। एक प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन के तीन उग्रवादियों ने असम के तिनसुकिया जिले में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस महानिदेशक डॉ कुलाधार साइकिया ने यहां संवाददाताओं को बताया कि गिरफ्तार किए गए उग्रवादियों में से एक उग्रवादी बोरडुमसा पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी भास्कर कलीता की हत्या में शामिल था।

ऐसी सूचना मिली थी कि यूएलएफए-आई के सदस्यों ने ऊपरी असम में खास गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भारत-म्यांमा सीमा पार की है। सूचना के आधार पर असम पुलिस, सेना तथा सीआरपीएफ के दल ने मंगलवार को तरानी रिजर्व फॉरेस्ट में एक अभियान चलाया था। पुलिस अधिकारी ने बुधवार को बताया, ‘‘सुरक्षा बलों ने उग्रवादियों को हथियार छोड़ने के लिए समझाया। इसके बाद उल्फा-आई के उग्रवादियों ने हथियार और गोला बारूद के जखीरे सहित आत्मसमर्पण कर दिया।’’

उग्रवादियों ने एके-81, एके-56 और एचके-33 राइफलें, नौ मैगजीन, दो हथगोले और 425 गोलियां भी पुलिस को सौंपीं। तीनों उग्रवादियों की पहचान बुलबुल मोरन उर्फ टाइगर असोम, बिनंदा दोहुतिया उर्फ स्वदेश असोम तथा चंद्रकांता बोरगोहाईं उर्फ तिपांग असोम के रूप में की गई है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि तिनसुकिया के पुलिस अधीक्षक ने उन्हें बुधवार को बताया कि मोरान पुलिस अधिकारी कलीता की हत्या में कथित तौर पर शामिल था।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories