• [EDITED BY : Super Admin] PUBLISH DATE: ; 08 May, 2019 09:37 AM | Total Read Count 92
  • Tweet
बेलगाम है आर्थिक बदहाली

हर आने वाली रिपोर्ट इस बात की पुष्टि करती जा रही है कि देश में आर्थिक विकास गिरता जा रहा है। ये हाल पैदा करने में नोटबंदी और जीएसटी का खास रोल रहा है। वित्तीय अखबार मिंट के विश्लेषण के मुताबिक इस साल की पहली तिमाही- मार्च तक कंपनियों की आय से संकेत मिला है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की रफ्तार सुस्त हुई है। माना जा रहा है कि कंपनियों की आय में वृद्धि में अभी और देर होगी, जिससे निवेशकों के शेयरों का वैलुएशन करने में कठिनाई होगी। बिक्री में कमी की वजह से कंपनियों का सकल लाभ 31 मार्च को पूरी हुई तिमाही में गिर गया। यह बीते 13 तिमाहियों में सबसे कम था। हालांकि इसके बावजूद पिछले दो महीने में बीएसई का बेंचमार्क सेंसेक्स 8 फीसदी से अधिक चढ़ा है। इतना ही नहीं बीएसई में सूचीबद्ध 124 कंपनियों के मार्च तक के तिमाही का शुद्ध मुनाफा 8.42 फीसदी गिर गया है। अर्थव्यवस्था की पतली हालात का अंदाजा इस बात से भी लगता है कि कंपनियों की कुल बिक्री की वृद्धि दर भी 11.3 फीसदी गिरी है, जो पिछले पांच तिमाही में सबसे कम है। कंपनियों की आय की इस समीक्षा में बैंकों, वित्तीय सेवाओं और तेल और गैस फर्मों को शामिल नहीं किया गया है, क्योंकि इन कंपनियों का राजस्व मॉडल अलग होता है।

एक अन्य विश्लेषण के मुताबिक नोटबंदी बीजेपी की अगुआई वाले एनडीए की सरकार के पूरे कार्यकाल का सबसे हानिकारक फैसला साबित हुआ। अपने इस फैसले के पीछे मोदी ने तर्क दिया कि आतंकवाद की कमर तोड़ने और काले धन की पहचान के लिए नोटबंदी का फैसला जरूरी है। तीन साल गुजर चुके हैं, लेकिन इस दौरान नोटबंदी का कोई भी सकारात्मक परिणाम देखने को नहीं मिला है। आतंकवाद आज भी उतनी ही बड़ी चुनौती है, जितनी की तीन साल पहले थी। नोटबंदी के बाद अस्थाई तौर पर नगदी का प्रयोग घटा जरूर, लेकिन अब अर्थव्यवस्था में नगदी का स्तर नोटबंदी से पहले की अपेक्षा ऊपर जा चुका है। सरकार के मुताबिक नोटबंदी काले धन को खत्म करने के लिए एक आर्थिक सुधार था। इससे डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिला है। लेकिन नोटबंदी के दौरान ही ये साफ दिखने लगा था कि भ्रष्टाचार किस कदर बढ़ रहा है। जब की हफ्तों तक नोटबंदी के लिए लगी लाइनें खत्म नहीं हुई तो भ्रष्टाचार में नोटबंदी ने एक नई भूमिका निभानी शुरू कर दी। और यही असली हाल है। 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories