यूपी में बिगड़ी भाजपाई गणित


[EDITED BY : Hari Shankar Vyas] PUBLISH DATE: ; 12 May, 2019 07:28 AM | Total Read Count 628
यूपी में बिगड़ी भाजपाई गणित

हां, 23 मई को भाजपा का नंबर एक खड्डा उत्तरप्रदेश होना चाहिए। प्रदेश की 80 सीटों में पिछली बार भाजपा को 71 सीटे मिली थी। वह संख्या 15 से 23 सीटों के बीच बनती लगती है। इसलिए क्योंकि उत्तरप्रदेश में बसपा-सपा-रालोद का एलायंस जो वोट ले रहा है उसमें 2014 में पीस पार्टी, कौमी एकता, आप जैसी पार्टियों को मुस्लिम या मोदी विरोधी जो भी वोट मिला था वह एलायंस को जाता लग रहा है। दूसरी तरफ कांग्रेस अधिकांश सीटों पर कम ही सही भाजपा का फारवर्ड वोट काट रही है। फिर पूर्वी उत्तरप्रदेश में सुहेलदेव पार्टीं, परिवर्तन पार्टी जैसी छोटी जातिय पार्टियों ने भी भाजपा का जातिय समीकरण बिगाड़ा है। पांच राउंड के मतदान में यह भी लगा है कि मुसलमान वोट एलायंस बनाम कांग्रेस के उम्मीदवारों के चक्कर में बंट नहीं रहा है। मुस्लिम वोट एकमुश्त उसी को जा रहे है जिस उम्मीदवार में भाजपा को हराने का ज्यादा दम और वोट आधार है। 

सो गौर करें यूपी के अपने इस सीटवार आंकलन पर कि भाजपा बनाम विपक्ष में सीट बंटवारा कैसे मुमकिन है? भाजपा की अधिकतम 23 सीट बनती है। इसमें भी नोएडा से ले कर फतेहपुर सिकरी, अलीगढ़, उन्नाव, ,हमीरपुर, मिर्जापुर जैसी सीटों में किंतु परंतु है लेकिन 2014 के आंक़ड़े और कैमेस्ट्री व भाजपा की हवा की कथित बातों से सीटों को भगवाई रंग में रंगा मानने में हर्ज नहीं है। सीट के आगे कोष्ठक में 2014मे भाजपा को मिले वोट की संख्या है। 80 सीट में से भाजपा के क्षेत्र ये है - गाजियाबाद(56), गौतमबुद्धनगर (50), बुलंदशहर (60), अलीगढ़ (48), हाथरस (52), मथुरा (53), आगरा (54), फतेहपुरसिकरी (51), एटा (51), बरेली (51), पीलीभीत (52), कानपुर(57),जालौन (49)उन्नाव (43), लखनऊ (54), अकबरपुर (50), हमीरपुर (46), झांसी (46), महाराजगंज (45), देवरिया (51) बांसगांव (47), वाराणसी (56), मिर्जापुर। कुल सीट 23 हुई।  

अब जरा एलायंस, कांग्रेस के आंकड़ों,- गणित सेयूपी में विपक्ष की बनती सीटों को देखें। इन सीटों के आगे भी 2014में  एलायंस पार्टियों के मिले कुल वोट या उपचुनाव में मिले वोट और पीस पार्टी, कौमी एकता, सुहेलदेव पार्टी के पिछले वोटों का जिक्र समीकरण दर्शाने के लिए है। सो गौर करें इन सीटों पर- सहारनपुर (58), मेरठ (48), कैराना (51), मुजफ्फरनगर (59), बिजनौर (52), नगीना(57), मुरादाबाद (49), रामपुर (43), संभल(57), अमरोहा(50), बागपत(67), फिरोजाबाद (59), मैनपुरी (74), बाराबंकी(53), बदायूं (63), आंवला (46), शाहजहांपुर (47),  धौरहरा (44), लखीमपुरखीरी (42), सीतापुर (51), हरदोई (57), मिसरिख (52), मोहनलालगंज (50), रायबरेली (64), अमेठी (56),  सुल्तानपुर (47), इटावा(49), कन्नौज (55), बांदा (49), , कौशांबी (54), फूलपुर(47), फैजाबाद (35), इलाहाबाद(46),  प्रतापगढ़ (37), फर्रुखाबाद (38), फतेहपुर (46), गौंडा(51), अंबेडकरनगर(51), बहराइच (46), कैसरगंज (48), श्रावस्ती (46), डुमरियागंज (40), बस्ती(58), संतकबीरनगर(48), लालगंज(55), आजमगढ़ (63), घोसी (54), जौनपुर(59), मछलीशहर (46), गाजीपुर(52).बलिया(55), चंदौली (47), भदोही (49) गोरखपुर(49), कुशीनग(55), सलेमपुर (45), ऱॉबर्ट्सगंज (49)। मतलब कुल 57 सीट। फिर भी क्या 23 मई को यूपी में मोदी-शाह ईवीएम मशीन से74 सीट का नया रिकार्ड बनाएगें?

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories