• [EDITED BY : Super Admin] PUBLISH DATE: ; 06 May, 2019 07:35 AM | Total Read Count 233
  • Tweet
चुप कर, फोन रख, वोट नहीं देंगे!

आजकल एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। इसे सुनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्थिति व मौजूदा हालात का अंदाजा लगाया जा रहा हे। यह मामला भाजपा के दिल्ली कार्यालय से उत्तर प्रदेश के एक जाट मतदाता से की गई बातचीत का है। वीडियो कुछ इस प्रकार है कि एक फोन बजता है और फोन करने वाला नमस्ते करके कहता है कि मैं भाजपा के दिल्ली कार्यालय से बोल रहा हूं। पिछली बार आपने नरेंद्र मोदी को वोट दिया था व इस बार भी उन्हें अपना वोद देकर सत्ता में लावे व देश को प्रगति के मार्ग पर प्रशस्त करें। 

फोन सुनने वाला गुस्से में कहता है अरे चुप कर क्यों झूठ बोलता है। मोदी ने जीतने के बाद कौन-सा तीर मार दिया। गन्ना की खरीद एक रुपया भी नहीं बढ़ाया। जबकि खाद एनपीके, बिजली के दामों में जबरदस्त बढ़ोतरी कर दी। 

फोन करने वाला- अरे बुरा मत मानिए। यह काम मोदी सरकार का नहीं बल्कि राज्य सरकार का है। जवाब- बुरा किस बात का मानना। मैं तुझे फोन पर लड़ते हुए लठ्ठ मारने से तो रहा। वैसे भी यहां का योगी भी तो मोदी का ही आदमी है। मोदी क्यों न उससे कहता कि गन्ने के दाम बढ़ाओ। 

जवाब- देखिए मोदीजी हर काम के लिए उनसे नहीं कह सकते हैं। प्रत्युत्तर- अरे बावले मेरा नंबर तुम्हें किसने दे दिया। जरूरत पड़ी तो कहने लगा कि वह कुछ नहीं कर सकते हैं। एससीएसटीएक्ट तुमने पहले से ही लागू कर दिया। चुनाव आ गए तो फोन कर दिया। हर बार तुम्हें ही वोट देते रहें। 

जवाब- यह तो आपकी इच्छा है कि आप किसे वोद देते हैं। 

चुप कर पहले मेरा उधार उतार दो। गन्ने का दाम 50 रुपए बढ़ा दो। अरे तू तो मोदी के घर से बोल रहा है उससे मेरी बात करवा। मैं बात नहीं करवा सकता। अगर तुझे मेरे बापू से कोई काम हो तो बता मैं तो उससे तुरंत करवा देता हूं और तू अपने बाप मोदी से बात तक नहीं करवा सकता है। काम करवाना तो बहुत दूर की बात रहीं। तेरे बस में कुछ नहीं है। तू फोन रख। मैं तो दूर मेरे गांव वाले तक तुझे वोट नहीं देंगे। आज के बाद कोई फोन मत करना।

हाल में जाट पत्रकार केपी मलिक व कुछ जाट नेताओं से जाट फिल्मकार धर्मेंद्र की पत्नी हेमा मालिनी व उनके बेटे सनी देओल को भाजपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ाने पर मैंने चर्चा की तो उन्होंने जो कहा उससे मैं अवाक रह गया। मलिक का कहना था कि जाटो में यह धारणा जोर पकड़ती जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा धर्मेंद के जाट होने का इस्तेमाल सिर्फ जाटो को बरगलाने व उनके वोट काटने के लिए ही करते आए हैं। उनका दावा था कि जाट धर्मेंद्र की दूसरी पत्नी हेमा मालिनी को छद्म जाटिनी मानते हैं। उनका मानना है कि असली जाट तो धर्मेंद्र की वह पहली पत्नी थी जिसे उन्होंने परित्यक्ता बना दिया। 

वे मोदी व धर्मेंद्र को जबरदस्त जाट विरोधी समझते हैं। उनके मुताबिक जब धर्मेंद्र ने सन 2004 से 2009 तक सांसद बनने का रिकार्ड बनाया तो उन्होंने बीकानेर से जाटो के प्रतिष्ठित नेता रामेश्वर दूढ़ी को हराया था। बाद में वे किसी गांव वाले से नहीं मिले और न ही किसानों की समस्याओं को लेकर कोई आवाज उठाई। बाद में वह कहने लगे थे कि कौन उल्लू का पठ्ठा राजनीति करना चाहता है। मगर उसके बाद उनकी दूसरी पत्नी व फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी ने 2014 में मथुरा से चुनाव लड़कर चौधरी चरण सिंह के पोते जयंत चौधरी को हराया जोकि जाटनेता अजीत सिंह के बेटे हैं। 

इससे जयंत चौधरी को अपना चुनाव क्षेत्र बदलकर बागपत जाना पड़ा। अब शोले की बसंती हेमा मालिनी फिर मैदान में है व रालोद के नेता ठाकुर नरेंद्र सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रही है। धर्मेंद्र शोले के वीरू की तरह उन्हें वोट न देने पर टंकी पर चढ़ जाने का भाषण दे रहे हैं। जबकि उनका बेटा सनी देओल तो गुरदासपुर से जाट नेता बलराम जाखड़ के बेटे के खिलाफ चुनाव मैदान में है। न तो हेमा मालिनी ही चुनाव जीतने के बाद अपने क्षेत्र में आई और न ही सनी देओल पहले गया। उनकी राष्ट्र व किसान भक्ति तो सिर्फ फिल्म के परदे तक ही सीमित है। हेमा मालिनी की सारी भूमिका आरओ सिस्टम बनाने वाली कंपनी के प्रचार तक ही सीमित है। 

इन तमाम बातों को जाट मतदाता अच्छी तरह से समझ चुका है व इस बार चुनावों में उन्हें माकूल जवाब देगा। भारतीय किसान यूनियन के नेता व अध्यक्ष चौधरी शेवीत सिंह का कहना है कि उन्होंने राम और जाट के नाम पर मतदाता को लूटा हैजबकि वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व विधायक व किसान नेता डाक्टर अजय तोमर का कहना है कि यह परिवार तो आज तक सिर्फ जाटो को छलता आया है। जाट उनकी असलियत को समझ चुके हैं व उनके कहने में नहीं फंसेंगे। हम सब लोग उनकी भूमिका के बारे में जाटो को जागरूक कर रहे हैं। वे लोग तो सही अर्थों में 'जाट वोट' कटवा हैं।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories