अशोक लेलैंड की नई तकनीकि, अफ्रीकी क्षेत्र में तलाश रही संभावनाएं


[EDITED BY : Uday] PUBLISH DATE: ; 07 April, 2019 05:32 PM | Total Read Count 41
अशोक लेलैंड की नई तकनीकि, अफ्रीकी क्षेत्र में तलाश रही संभावनाएं

नई दिल्ली। वाणिज्यिक वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनी अशोक लेलैंड वैश्विक परिचालन के विस्तार की अपनी योजना के तहत सोवियत संघ से विघटित हुए देशों और अफ्रीकी क्षेत्र में अधिक संख्या में असेंबली संयंत्र लगाने की संभावनाएं तलाश रही है। कंपनी की पश्चिम एशिया, दक्षेस के देशों और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में मजबूत पकड़ है और अब कंपनी की कोशिश भारी एवं हल्के वाणिज्यिक वाहनों के जरिए नये क्षेत्रों में कदम रखने की है। चेन्नई स्थित हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी एक नया प्लेटफॉर्म विकसित करने की प्रक्रिया में है, जिसके जरिए उसकी योजना मध्यम और भारी उत्पादों को अगले साल पेश करने की है।

कंपनी हल्के वाणिज्यिक वाहनों के लिए अलग प्लेटफॉर्म विकसित करने की दिशा में काम कर रही है। कंपनी को अगले साल अप्रैल से नये उत्पाद पेश करने की उम्मीद है। अशोक लेलैंड के चेयरमैन धीरज हिंदुजा ने 'पीटीआई-भाषा' से साक्षात्कार में कहा, ''अच्छी बिक्री वाले बाजारों में हम असेंबली संयंत्र भी लगा सकते हैं। लेकिन बड़े विनिर्माण संयंत्रों की जगह यह काम बहुत ही किफायती तरीके से किया जाएगा।''

उनसे पूछा गया कि क्या कंपनी ने कुछ ऐसे देशों की पहचान की है, जहां वह इस तरह की इकाई लगाना चाहेगी तो उन्होंने कहा, ''अफ्रीका में हमने केन्या और आइवरी कोस्ट में संभावनाओं की तलाश की है। ये दोनों ही देश काफी महत्वपूर्ण हैं। हम सोवियत संघ से अलग हुए देशों पर भी ध्यान दे रहे हैं।''

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories