बंगाल में समय से पहले प्रचार बंद


[EDITED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 15 May, 2019 11:32 PM | Total Read Count 46
बंगाल में समय से पहले प्रचार बंद

नई दिल्ली/कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को दिन में प्रेस कांफ्रेंस करके केंद्रीय चुनाव आयोग पर निशाना साधा और कहा कि कोलकाता में उनके रोड शो में हिंसा हुई और आयोग मूक दर्शक बना रहा, इस प्रेस कांफ्रेंस के तुरंत बाद आयोग ने पश्चिम बंगाल में समय से पहले ही चुनाव प्रचार बंद करने का आदेश दिया। चुनाव आयोग ने अभूतपूर्व फैसला करते हुए राज्य में चुनाव प्रचार बंद होने की समय सीमा से 20 घंटे पहले ही प्रचार बंद करने का ऐलान कर दिया। इसके साथ ही आयोग ने राज्य के गृह विभाग के प्रधान सचिव और सीआईडी के अतिरिक्त महानिदेशक को उनके पद से हटा दिया।

चुनाव आयोग ने बुधवार की शाम को आदेश दिया कि गुरुवार को रात दस बजे के बाद पश्चिम बंगाल की बची हुई नौ सीटों पर प्रचार नहीं होगा। गौरतलब है कि बंगाल की नौ सीटों पर सातवें और आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होना है और इसका प्रचार 17 मई की शाम पांच बजे बंद होगा। पर चुनाव आयोग ने तय समय से 20 घंटे पहले ही गुरुवार की रात दस बजे से प्रचार बंद करने का आदेश दिया है।

आयोग ने कहा कि इन सीटों पर गुरूवार रात दस बजे से किसी भी तरह के चुनाव प्रचार पर रोक रहेगी। पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम पांच बजे बंद होना था। आयोग ने साफ किया है कि गुरूवार रात दस बजे के बाद से इन लोकसभा क्षेत्रों में रैलियां, चुनाव सभा, इलेक्ट्रानिक माध्यमों से प्रचार आदि नहीं किया जा सकेगा।

चुनाव आयोग ने विवादों में घिरे राज्य के सीआईडी के अतिरिक्त महानिदेशक, एडीजी राजीव कुमार और गृह विभाग के प्रधान सचिव अत्री भट्टाचार्य को हटा दिया है। उप चुनाव आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने पत्रकारों को बुधवार को कोलकाता में बताया कि मंगलवार को हुई हिंसा की घटना पर राज्य के प्रभारी चुनाव आयुक्त और दो पर्यवेक्षकों अजय नारायण और विवेक दुबे की रिपोर्ट के आधार पर अंतिम चरण के मतदान वाले नौ लोकसभा क्षेत्रों में किसी भी तरह के चुनाव प्रचार, रैली, जनसभा और प्रचार की दृष्टि से तैयार फिल्मों, नाटकों और मनोरंजन के कार्यक्रमों पर गुरुवार रात 10 बजे से रोक लगा दी गई।

आयोग ने महान समाज सुधारक और शिक्षाशास्त्री ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने पर भी गहरी चिंता जताई। उप चुनाव आयुक्त संदीप जैन ने बताया कि राजीव कुमार को कार्यमुक्त कर गृह मंत्रालय भेज दिया गया है और उन्हें गुरुवार की सुबह 10 बजे रिपोर्ट करने को कहा गया है। राज्य के गृह विभाग के प्रधान सचिव अत्री भट्टाचार्य को भी कार्यमुक्त कर दिया गया है और उनका कामकाज राज्य के मुख्य सचिव संभालेंगे।

तृणमूल ने की भाजपा की शिकायत

 तृणमूल कांग्रेस ने मंगलवार को कोलकाता में हुई हिंसा के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है। तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने भाजपा पर महान समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने का आरोप भी लगाया है। तृणमूल ने दावा किया है कि उसके पास इस बात के सबूत हैं कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने मूर्ति तोड़ी है। पार्टी ने आयोग से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

राज्यसभा में पार्टी के नेता डेरेक ओ ब्रायन के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मिल कर इसकी शिकायत की और अपने दावों के समर्थन में वीडियो क्लिप भी पेश किए। प्रतिनिधिमंडल में पार्टी के मुख्य सचेतक सुधांशु शेखर रॉय, उप नेता मनीष गुप्ता और सांसद नदीमुल हक भी शामिल थे। रॉय ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा ने राज्य से बाहर के गुंडे बुला कर मंगलवार को कोलकाता में हिंसा की और बंगाल के नवजागरण नायक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी, जिनकी दो सौवीं जयंती चार महीने बाद मनाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि मंगलवार की हिंसा की घटना के बाद तेजिंदर बग्गा को गिरफ्तार किया गया। यह बग्गा वहीं शख्स है, जिसने सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण को थप्पड़ मारा था। यह आदमी मंगलवार को अमित शाह की रैली में भी शामिल था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बिहार झारखंड और उत्तर प्रदेश से गुंडों को बुला कर उन्हें गेस्ट हाउस और होटलों में ठहराया था और रोड शो के पहले एक वीडियो भी बांटा गया, जिसमें लाठी लेकर आने और तृणमूल व पुलिस की पिटाई करने की बात कही गई है।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories