शाह ने कहा, तृणमूल ने की हिंसा


[EDITED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 15 May, 2019 11:30 PM | Total Read Count 34
शाह ने कहा, तृणमूल ने की हिंसा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस करके पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और चुनाव आयोग पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि कोलकाता में मंगलवार को उनके रोड शो में हुई हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस जिम्मेदार है। अमित शाह ने यह भी कहा कि चुनाव आयोग मूक दर्शक बना रहा और वह दोहरे मापदंड अपना रहा है।

शाह ने तृणमूल कांग्रेस के इस आरोप को भी खारिज किया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने समाज सुधारक व शिक्षाविद् ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी। उन्होंने दावा किया कि तृणमूल के कार्यकर्ताओं ने मूर्ति तोड़ी। शाह ने चेतावनी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सत्ता में रहने की उल्टी गिनती 23 मई को शुरू हो जाएगी जब चुनाव नतीजों की घोषणा होगी। उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा को छह चरण के मतदान में ही पूर्ण बहुमत मिल गया है।

शाह ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह भी कहा कि मंगलवार को जब कोलकाता में उनके काफिले पर हमला किया गया तब अगर सीआरपीएफ की सुरक्षा नहीं होती तो वे सकुशल बच कर नहीं निकल पाते। उन्होंने कहा- मैं चुनाव आयोग को बताना चाहता हूं कि पश्चिम बंगाल में चुनावों में गड़बड़ी के प्रयासों को लेकर वह मूक दर्शक बना हुआ है। उसे तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए। आदतन अपराधियों को देश भर में चुनावों के दौरान गिरफ्तार किया गया है। बंगाल में उन्हें मुचलका देने के बाद रिहा कर दिया जाता है। चुनाव आयोग की तरफ से ऐसा दोहरा मापदंड क्यों? वह क्यों चुप है।

अमित शाह ने कहा कि राज्य में चुनाव पर्यवेक्षकों ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि राज्य में चुनाव निष्पक्ष तरीके से तब तक नहीं हो सकते जब तक ऐसे शरारती तत्वों को गिरफ्तार न कर लिया जाए लेकिन चुनाव आयोग ने कार्रवाई नहीं की। यह चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर बड़े सवाल खड़ा करती है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आम चुनाव के अब तक संपन्न सभी छह चरणों के मतदान के दौरान केवल पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई, और कहीं से भी ऐसी किसी घटना की खबर नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष ने दावा करते हुए कहा - अब बंगाल की जनता ममता जी को हटाने का मन बना चुकी है और मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि इस बार बंगाल में भाजपा 23 से अधिक सीटें जीतने जा रही है। शाह ने भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा- मैं आश्वस्त हूं कि चुनाव के पांचवें और छठे चरण के बाद भाजपा अकेले पूर्ण बहुमत का आंकड़ा पार कर चुकी है। सातवें चरण के बाद 300 से ज्यादा सीटें जीत कर हम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में फिर से राजग की सरकार बनाने जा रहे हैं।

तृणमूल ने भाजपा को जिम्मेदार बताया

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में मंगलवार को हुई हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराने के भाजपा के आरोपों को खारिज करते हुए पार्टी ने भाजपा पर पलटवार किया है और कहा कि हिंसा के लिए वह जिम्मेदार है। तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का आरोप लगते हुए मंगलवार को कोलकाता में हुई हिंसा व महान समाज सुधारक व शिक्षाविद् ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।

तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन ने बुधवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में कोलकाता में मंगलवार की हिंसा से जुड़ा वीडियो दिखा कर दावा किया कि भाजपा ने राज्य के बाहर से गुंडों को बुला कर इस हिंसा को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि जब शाह का रोड शो विद्यासागर कालेज के पास पहुंचा तो छात्रों ने काले झंडे दिखाए जो उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। इसके बाद भाजपा के गुंडों ने हिंसा शुरू कर दी और पथराव भी किया और बंगाल के नवजागरण के नायक विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी।

उन्होंने कहा कि यह बंगाल के इतिहास का सबसे दुखद दिन है जब ऐसे व्यक्ति की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गई जो देश का बड़ा दार्शनिक, शिक्षाविद और राष्ट्रीय प्रतीक है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बंगला संस्कृति व मूल्यों पर हमला किया है। उन्होंने कहा - शाह और उनके लोगों को क्या मालूम कि विद्यासागर कौन हैं? विद्यासागर को विकीपीडिया से नहीं जाना जा सकता। वे बंगाल के घर घर में और वर्णमाला की किताबों में मौजूद है और हर बंगाली बचपन से उनको जानते हुए बड़ा हुआ है।

डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि शाह और उनकी पार्टी रोज झूठ बोलती है। मंगलवार की हिंसा के बारे में भी वे झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने कहा – शाह ने तो रवींद्र नाथ टैगोर का जन्म स्थान वीरभूमि बता दिया। उनको तो यह भी नहीं पता कि कवि टैगोर कहां जन्मे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के लोग भी भाजपा से मिले हैं और मतदान में उनकी मदद कर रहे हैं।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories