Loading... Please wait...

सभ्य समाज के मानदंड

हमारे अवचेतन मन में बैठे सामाजिक पूर्वाग्रह कैसे काम करते हैं, इसकी मिसाल तो हमें देखने को अक्सर मिलती है, लेकिन उन्हें समझ वही लोग या समाज पाते हैं, जिन्होंने इस बारे में अपनी चेतना का विकास किया है। वरना उसे सामान्य और स्वाभाविक बात मानकर लोग आगे बढ़ जाते हैं। मानव समाज के लिए यह संतोष का पहलू हो सकता है कि अब दुनिया में ऐसे समाज हैं, जहां ऐसे पूर्वाग्रहों का इजहार करने वाले लोगों को न सिर्फ अपनी गलती माननी पड़ती है, बल्कि उसके लिए क्षमा याचना भी करनी पड़ती है। ऐसी ही एक ताजा घटना में कपड़ों के मशहूर ब्रांड ‘एच एंड एम’ ने अपने एक विज्ञापन के लिए माफी मांगी है। इस विज्ञापन में एक अश्वेत बच्चे को स्वेटशर्ट पहने देखा गया, जिस पर लिखा था- ‘कूलेस्ट मंकी इन द जंगल’।

स्वाभाविक था कि इस विज्ञापन की कड़ी आलोचना हुई। सोशल मीडिया में लोगों में ने गहरी नाराजगी जताई। अश्वेत बच्चे के साथ इस तरह के संदेश को रंगभेदी माना गया। लोगों ने लिखा कि बड़ी कंपनियों को ऐतिहासिक संदर्भ में संवेदनशील होने की जरूरत है। मामले को बढ़ता देख एच एंड एम ने माफीनामा जारी किया। विज्ञापन को इंटरनेट से हटा लिया। कंपनी ने कहा- ‘जितनी भी आलोचना हो रही है, हम उससे सहमत हैं। हमसे गलती हुई है और हम इसे मानते हैं। भले ही यह अनजाने में हुआ हो, लेकिन अप्रत्यक्ष या थोड़ा-बहुत भी नस्लवाद जहां है, उसे वहां से मिटाने की जरूरत है।’ इतना ही नहीं, कंपनी ने अपने बयान में ये भी कहा- ‘ग्लोबल ब्रांड होने के नाते सभी नस्लों और संस्कृतियों के प्रति संवेदनशील होने की हमारी जिम्मेदारी बनती है। इस बार हम अपनी जिम्मेदारी निभाने में चूक गए हैं।’ कंपनी ने आपत्तिजनक संदेश वाले तमाम स्वेटशर्ट्स को बाजार से वापस मंगा लिया है। इसे अब रिसाइकिल किया जाएगा। जाहिर है, इस गलती के कारण एच एंड एम को भारी नुकसान झेलना पड़ा है। ये क्षति आर्थिक है और प्रतिष्ठा की भी। कई बड़ी हस्तियों ने कंपनी के बहिष्कार का एलान किया है। कुछ ने एच एंड एम के साथ भविष्य में काम करने की घोषणा की है। इसमें सबसे बड़ा नाम अमेरिका के रैपर जी-ईजी का है, जिन्होंने कंपनी के साथ अपना करार तोड़ लिया। ऐसा ही एलान कनाडा के पॉप स्टार द वीकेंड ने भी किया है। इन सबसे सभी समाजों के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण कायम हुआ है।

Tags: , , , , , , , , , , , ,

158 Views

बताएं अपनी राय!

हिंदी-अंग्रेजी किसी में भी अपना विचार जरूर लिखे- हम हिंदी भाषियों का लिखने-विचारने का स्वभाव छूटता जा रहा है। इसलिए कोशिश करें। आग्रह है फेसबुकट, टिवट पर भी शेयर करें और LIKE करें।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

मुख मैथुन से पुरुषों में यह गंभीर बीमारी

धूम्रपान करने और कई साथियों के साथ मुख और पढ़ें...

भारत ने नहीं हटाई सेना!

सिक्किम सेक्टर में भारत, चीन और भूटान और पढ़ें...

पाक सेना प्रमुख करेंगे जाधव पर फैसला!

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय और पढ़ें...

बेटी को लेकर यमुना में कूदा पिता

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर शहर के पत्नी और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd