इंडोनेशिया की मदद जरूरी

संपादकीय-2
ALSO READ

इंडोनेशिया सुनामी के बाद की गंभीर हालत से निपटने की कोशिश में है। इसमें वो खुद को अक्षम पा रहा है। इसलिए उसने अंतरराष्ट्रीय मदद की अपील की है। बीते शुक्रवार को 7.5 की तीव्रता वाले भूकंप और फिर उसके बाद आई सूनामी में लगभग साढ़े आठ सौ लोगों की जान गईहै। वैसे उप राष्ट्रपति जुसुफ काला ने कहा है कि मरने वालों की तादाद "हजारों" में हो सकती है। राहत के काम में जुटी एक प्रमुख एजेंसी का कहना है कि कम-से-कम 1,203 शव निकाले जा चुके हैं। अनेक लोग लापता हैं। 48,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। इंडोनेशियाई राष्ट्पति जोको विडोडो ने "आपदा राहत और बचाव के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद" स्वीकार करने की आधिकारिक मंजूरी दे दी है। यूरोपीय संघ ने कहा है कि वह आपातकालीन मानवीय सहायता के लिए 15 करोड़ यूरो का शुरूआती फंड जारी कर रहा है। उधर अमेरिका ने कहा है कि वह "राहत के काम में मदद देने" के लिए तैयार है। दरअसल, पीड़ितों तक पहुंचने में भारी उपकरणों और ईंधन की कमी का सामना करना पड़ रहा है।

भारी मशीनें पीड़ित इलाकों में भेजी जा रही हैं। डोंगाला और सिगी जिलों में बचाव और राहत काम शुरू चल रहा है। भूस्खलन, सड़कों के टूटने और दूसरे संपर्क खत्म होने के कारण ये इलाके अलग थलग पड़ गए हैं। एक बड़ी समस्या मृत लोगों को दफनाने की है। देश के सेना प्रमुख ने कहा है कि मृतकों को 1000 वर्ग मीटर की सामूहिक कब्रगाह में दफनाया जाएगा। सुलावेसी प्रांत की राजधानी पालू के कुछ निवासियों ने मदद में कमी की शिकायत की है। पालू पर भूकंप और सूनामी की सबसे ज्यादा मार पड़ी है। पीड़ितों ने बताया है कि कैसे धरती तेजी से हिली और उनके घर ढह गए। घर और सड़कें अपनी वास्तविक स्थिति से कम से कम 20 मीटर तक खिसक गईं।

कुछ घर खिसके लेकिन गिरे नहीं बाकी तो जैसे निगल लिए गए। इंडोनेशिया में सुलावेसी से पहले इसी साल अगस्त में लोमबोक द्वीप भी भूकंप और सूनामी की चपेट में आया था। तब 550 लोगों की मौत हुई और 40 हजार से ज्यादा विस्थापित हुए। इंडोनेशिया पैसिफिक रिंग ऑफ फायर के इलाके में है, जो भूकंपीय हलचलों और ज्वालामुखी विस्फोटों के लिए जाना जाता है। अब ये इलाका नई तबाही से जूझ रहा है। यह अंतरराष्ट्रीय समुदाय का दायित्व है कि वह आगे बढ़ कर वहां के लोगों की मदद करे। 
 

425 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।