फेमिसाइड के खिलाफ मुहिम

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार फेमिसाइड शब्द उन तमाम महिलाओं की हत्या के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिनकी उनके पार्टनर ही हत्या कर देते हैं। कई मामलों में पति के हाथों पत्नियों को घरेलू हिंसा का शिकार बनना पड़ता है। आगे चलकर उनमें से कई पति महिलाओं को मौत के घाट भी उतार देते हैं। 2019 में तुर्की में कम से कम 474 महिलाओं की ऐसे ही हत्या हुई। इस साल इस संख्या में और बढ़ोत्तरी का अनुमान है, क्योंकि कोरोना वायरस की महामारी के कारण घरों में दुर्व्यवहार और हिंसा झेलने वाली महिलाओं की संख्या और ज्यादा मानी जा रही है। इसके बावजूद तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप एर्दोआन की सरकार ‘इस्तांबुल कन्वेन्शन’ से बाहर निकलने या कम से कम कुछ बड़े बदलाव लाने की कोशिश कर रही है। यह संधि महिलाओं को घरेलू हिंसा से बचाने वाली विश्व के सबसे महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय समझौतों में आता है। देश की महिलाएं सरकार के इस प्रयास का भी विरोध कर रही हैं और मांग कर रही हैं कि लैंगिक आधार पर होने वाली हिंसा से बचाने के लिए इसे बरकरार रखा जाए। इसके खिलाफ पिछले हफ्ते महिलाओं ने इंस्टाग्राम और फेसबुक एक अभियान चलाया। उन्होंने अपने ब्लैक एंड वाइट फोटो वहां पोस्ट कए। उसे ‘चुनौती स्वीकार है’ के संदेश के साथ पोस्ट किया गया। ‘चुनौती स्वीकार’ कर उन्होंने ‘महिलाएं महिलाओं के साथ’ अपनी एकजुटता दिखाने का संदेश दिया। यह अभियान तुर्की से शुरू हुआ।

हाल ही में वहां एक व्यक्ति पर एक 27 साल की छात्रा पिनार गुलतेकिन की बहुत ही क्रूर तरीके से हत्या करने का आरोप लगा। उसके बाद तुर्की की महिलाएं ऐसी हत्याओं और हमेशा महिलाओं के सिर पर लटकी रहने वाली ऐसी तलवार के विरोध में सड़कों पर उतरीं। गुलतेकिन के लिए न्याय की मांग और ऐसे अपराधों के खिलाफ महिलाओं के विरोध प्रदर्शनों से ही यह फोटो चैलेंज उपजा। इस तरह अपनी ब्लैक एंड वाइट फोटो लगा कर महिलाएं असल में यह संदेश दे रही थीं कि अगर कुछ नहीं किया गया तो ऐसे ही किसी दिन शायद कोई उनकी भी जान ले सकता है और फिर वे केवल अखबार में छपी एक काली-सफेद तस्वीर जितनी ही रह जाएंगी। इतने अहम और खौफनाक संदेश को तुर्की के अलावा भी विश्व के कई देशों में समर्थन मिला। जहां अमेरिका तक में कई मशहूर हस्तियों ने इसे आगे बढ़ाया वहीं यह भारत में भी खूब लोकप्रिय हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares