एक तानाशाह की ये गति!

स्पे‍न के पूर्व तानाशाह फ्रांसिस्को फ्रांको के शव को अब सरकारी कब्रगाह से हटा दिया गया है। स्पेन में एक तानाशाह की कब्र को सम्मानित जगह देने पर दशकों तक विवाद रहा। अब मौजूदा समाजवादी सरकार ने फ्रांको के शव वहां से निकालने का फैसला किया। उसने उम्मीद जताई है कि अब यह विवाद खत्म होगा। फ्रांको को उनके विरोधी निरंकुश फासीवादी मानते हैं, जिसने अपने समय में लोकतांत्रिक आजादी को मिटा दिया। करीब साढ़े तीन दशक की तानाशाही के बाद 1975 में फ्रांको की मौत हुई। उसके बाद स्पेन में लोकतंत्र को फिर से स्थापित करने की कोशिश हुई। स्पेन ने फ्रांको तानाशाही के दौर में राजनीतिक अपराध के लिए दोषी ठहराए गए लोगों को माफ करने के लिए एक कानून पारित किया। 2007 में समाजवादी सरकार ने एक ऐतिहासिक कानून बनाया, जिसमें उन लोगों की पहचान करने की बात थी जिन्हें फ्रांको के शासन में यातना झेलनी पड़ी थी। अब एक दशक के बाद वही पार्टी फ्रांको के अवशेषों को वैली ऑफ द फॉलेन कंप्लेक्स से बाहर ले गई है। सोशलिस्ट पार्टी इस जगह को उन लोगों का स्मारक बनाना चाहती है, जिन्होंने गृहयुद्ध में अपनी जान गंवाई थी। नवंबर में चुनाव होने हैं और फ्रांकों के अवशेष कब्र से निकाल कर कहीं और दफनाने की बात ने देश में दरार पैदा कर दी है।

2018 में इस मामले पर हुई वोटिंग में 176 सांसदों ने इसके पक्ष में वोट दिया और दो सांसद इसके विरोध में थे। लेकिन 165 सदस्यों ने इस वोटिंग में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया था। इसमें रुढ़िवादी पीपुल्स पार्टी और मध्य दक्षिणपंथी दल क्यूदादानोस के सदस्य शामिल थे। जुलाई 1936 में फ्रांको ने स्पेन के नियंत्रण वाले मोरक्को से सैन्य विद्रोह की शुरुआत की। विद्रोह का असर इतना ज्यादा था कि यह अगले ही दिन स्पेन की मुख्यभूमि तक जा पहुंचा। दक्षिणपंथी पार्टियों, जमींदारों, उद्योगपतियों और कुलीन वर्ग के साथ ही कैथोलिक चर्चों और रजवाड़ों के समर्थन के रथ पर सवार विद्रोहियों ने स्पेन के ज्यादातर हिस्से को अपने नियंत्रण में लेना शुरू कर दिया। लेकिन मैड्रिड और कुछ दूसरे शहरों में उन्हें वामपंथी रिपब्लिकन सरकारी सेना के प्रतिरोध का सामना करना पड़ा। देश में गृहयुद्ध छिड़ गया और फ्रांको की भूमिका अहम हो गई। इसके नतीजे में करीब 5 लाख लोगों की जान गई और लोगों में विभाजन की गहरी लकीर खिंच गई। स्वाभाविक है कि फ्रांको की विरासत विवादास्पद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares