nayaindia ओवैसी के औरंगजेब के मकबरे पर जाने से शुरू हुई बहस, शिवसेना और मनसे......
देश | लेख स्तम्भ | राजनीति| नया इंडिया| ओवैसी के औरंगजेब के मकबरे पर जाने से शुरू हुई बहस, शिवसेना और मनसे......

ओवैसी के औरंगजेब के मकबरे पर जाने से शुरू हुई बहस, शिवसेना और मनसे ने की आलोचना…

Owaisi Aurangzeb Tomb
Source : News 18

नई दिल्ली | Owaisi Aurangzeb Tomb : AIMIM नेता और सांसद अकबरुद्दीन ओवैसी हमेशा किसी न किसी बात को लेकर चर्चा में बने रहते हैं. या फिर यूं कहें कि ओवैसी को खबरों में बने रहना अच्छे से आता है. ऐसे में एक बार फिर से मुगल सम्राट औरंगजेब के मकबरे पर जाने को लेकर ओवैसी खबरों में हैं. शिवसेना ने ओवैसी के इस कदम की आलोचना की है और सवाल उठाते हुए शुक्रवार को आगाह किया कि अगर उन्होंने समाज में समस्याएं उत्पन्न करने की कोशिश की, तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.बता दें कि एक रैली को संबोधित करने से पहले ओवैसी बृहस्पतिवार को जिले में स्थित औरंगजेब के मकबरे पर गए थे. इससे खफा होकर शिवसेना के पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे और पार्टी की औरंगाबाद जिला इकाई के प्रमुख एवं विधान परिषद के सदस्य अंबादास दानवे ने मकबरे पर जाने के ओवैसी के कदम की कड़ी ओलाचना की.

Owaisi Aurangzeb Tomb
Source : News 18

इस्लामी राजवंशों की सोच एक जैसी

Owaisi Aurangzeb Tomb : दानवे ने कहा कि अकबरुद्दीन ओवैसी के औरंगजेब के मकबरे पर जाने का मकसद समझ नहीं आता. हमें उनका एक पुराना बयान याद है, जिसमें उन्होंने कहा था कि कोई भी औरंगजेब के मकबरे पर नहीं जाता है. अगर वह समाज में समस्या उत्पन्न करने के लिए ऐसा कर रहे हैं, तो हम इसे बर्दाशत नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि ओवैसी का औरंगजेब के मकबरे पर जाना कोई आश्चर्य की बात नहीं है. निजाम, रजाकारों (हैदराबाद के निज़ाम द्वारा 1947-48 के दौरान रियासत के भारत के साथ विलय का विरोध करने के लिए तैनात अर्धसैनिक स्वयंसेवी बल) और पहले के इस्लामी राजवंशों की सोच एक जैसी ही है. उनकी विचारधारा के तहत ही ओवैसी मकबरे पर गए लेकिन जो मुसलमान देश के कल्याण के बारे में सोचते हैं उन्हें AIMIM और ओवैसी से दूर रहना चाहिए.

इसे भी पढें- छठी बार देश के पीएम के तौर पर विक्रमसिंघे ने संभाला प्रधानमंत्री पद का कार्यभार…

AIMIM सांसद ने किया ओवैसी का बचाव…

Owaisi Aurangzeb Tomb : दूसरी ओर AIMIM के सांसद इम्तियाज जलील ने ओवैसी का बचाव करते हुए कहा कि इसका कोई और अर्थ निकालने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि खुल्दाबाद में कई मकबरे हैं, जिनका एक अच्छा-खासा इतिहास भी है. जो कोई भी खुल्दाबाद आता है औरंगजेब के मकबरे पर जाता है. इसका कोई और अर्थ निकालने की जरूरत नहीं है. बता दें कि राज ठाकरे नीत महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने भी बृहस्पतिवार को ओवैसी के मुगल बादशाह के मकबरे पर जाने के कदम पर आपत्ति जतायी थी.

इसे भी पढें- Jammu Kashmir : कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद, प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज…

Leave a comment

Your email address will not be published.

15 + 12 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भाजपा के कार्यक्रम राजस्थान, हिमाचल में
भाजपा के कार्यक्रम राजस्थान, हिमाचल में