नागरिकता बिल पास कराना आसान!

केंद्र सरकार नागरिकता संशोधन विधेयक को पास कराने के लिए क्या संसद सत्र को आगे बढ़ाएगी? इसे लेकर सरकार में भी दो राय है। सरकार के संसदीय प्रबंधकों का मानना है इस बिल को पास कराने में दिक्कत नहीं आएगी। एक बिल एक दिन की चर्चा के बाद लोकसभा से पास हो सकता है और फिर राज्यसभा में भी एक दिन की चर्चा के बाद इसे पास कराया जा सकता है। पर सरकार में ही कुछ लोगों की राय है कि लोकसभा से पास होने के तुरंत बाद इसे राज्यसभ में न पेश किया जाए।

ध्यान रहे संसद का सत्र 14 दिसंबर को खत्म हो रहा है। सरकार सोमवार या मंगलवार को यानी नौ या दस दिसंबर को इसे लोकसभा में पेश करेगी। इस कैलेंडर के हिसाब से बुधवार या गुरुवार को इस बिल को राज्यसभा से भी पास कराना होगा, जहां विपक्षी पार्टियों के सांसद इसे फिर से प्रवर समिति में भेजने की मांग करेंगे। तभी यह कहा जा रहा है लोकसभा से पास होने के बाद सरकार इंतजार करे, संसद सत्र एक हफ्ते के लिए आगे बढ़ाया जाए और अगले हफ्ते में राज्यसभा से इसे पास कराया जाए।

बहरहाल, सरकार सत्र बढ़ाए या न बढ़ाए उसे बिल पास कराने में दिक्कत नहीं आने वाली है। राज्यसभा में अब भाजपा के अपने 83 सांसद हैं, जबकि बहुमत का आंकड़ा 122 का है। अगर सारे सदस्य सदन में मौजूद होते हैं तो उसे 39 अतिरिक्त सांसदों की जरूरत पढ़ेगी। भाजपा के पास इसका भी जुगाड़ है। अन्ना डीएमके के 13 सांसद उसका साथ दे रहे हैं। इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी के चार और बीजू जनता दल के सात सांसदों का भी समर्थन सरकार के साथ है। इन चार पार्टियों को मिला कर सरकार का समर्थन 107 का हो जाता है।

इनके अलावा जनता दल यू के छह, शिव सेना व अकाली दल के तीन-तीन, लोजपा, रिपब्लिकन पार्टी और अगप के एक-एक सांसद का भी समर्थन मिलेगा। इनकी संख्या 15 होती है। इस तरह सरकार का समर्थन 122 सांसदों का हो जाएगा। मनोनीत सांसदों और छह निर्दलीय सांसदों में से भी ज्यादातर का समर्थन सरकार को है। पर सरकार के प्रबंधक मान रहे हैं कि इतना समर्थन जुटाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि विपक्षी पार्टियों में से भी अनेक लोग इस बिल का समर्थन करना चाहते हैं, जो सदन की कार्यवाही से गैरहाजिर होकर सरकार की मदद कर सकते हैं। सरकार ने कश्मीर और तीन तलाक के मामले में इस तरह कई विपक्षी पार्टियों की मदद ली थी। इसलिए सरकार पूरे भरोसे में है कि बिल पास कराने में उसे कोई मुश्किल नहीं आने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares