कितना आसान है राहुल का अपमान!

किसी भी लेखक, पत्रकार या नेता के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का

अपमान करना कितना आसान है,

यह कई घटनाओं से साबित हुआ है। जिसे मन होता है वह उनके बारे में कुछ भी कहता या लिखता है।

हालांकि वे किसी के बारे में कुछ भी बोलते हैं तो तुरंत उनके खिलाफ अवमानना का

मामला दर्ज हो जाता है पर ऐसी कोई घटना नहीं है,

जब उन्होंने किसी के खिलाफ अवमानना का मामला दर्ज कराया हो, जबकि हकीकत यह है

कि समकालीन भारतीय राजनीति में किसी और नेता का उतना अपमान नहीं किया गया है, जितना राहुल का हुआ है।

बहरहाल, ताजा मामला पत्रकार तवलीन सिंह के बेटे और ब्रिटिश पत्रकार आतिश तासीर का है।

पिछले दिनों भारत सरकार ने उनको मिला ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया यानी ओसीआई का दर्जा खत्म कर दिया।

उन्होंने लोकसभा चुनाव के ऐन बीच में अमेरिका की टाइम पत्रिका के लिए कवर स्टोरी लिखी थी,

जिसमें नरेंद्र मोदी को ‘डिवाइडर इन चीफ’ कहा था।

इसे भी पढ़े : बिखरे विपक्ष को एक करने को कुछ करना होगा

चुनाव के बाद जब केंद्र में फिर से नरेंद्र मोदी की सरकार बन गई तो तासीर को नोटिस देकर कहा गया

कि उन्होंने यह तथ्य छिपाया था कि उनके पिता पाकिस्तानी थे।

इस आधार पर उनका ओसीआई का दर्ज रद्द कर दिया गया।

उनके बचाव में उतरीं उनकी मां तवलीन सिंह ने लेख लिख कर बताया कि उनके बेटे ने तो राहुल गांधी का ज्यादा अपमान किया था।

तवलीन सिंह ने लिखा कि उनके बेटे ने उस लेख में राहुल के लिए ‘अनटीचेबल मीडियोक्रेटी’ लिखा था।

यानी यह लिखा था कि राहुल ऐसे मूढ़मति हैं, जिनको सिखाया नहीं जा सकता है।

इसके बावजूद राहुल ने कोई कार्रवाई नहीं की।

पहले बेटे ने राहुल को मूर्ख लिखा और फिर बाद में मां ने बताया भी कि उनके बेटे ने राहुल को मूर्ख लिखा।

सोचें, किसी और नेता के साथ कोई ऐसा कर सकता है?

दूसरी मिसाल देश के सबसे तेज चैनल की सबसे लोकप्रिय एंकर का है।

इस महिला एंकर ने हाल के महाराष्ट्र के चुनाव के दौरान एक कार्यक्रम में शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे के लिए एक टिप्पणी की।

जिस समय यह टिप्पणी की उस समय एंकर को लगा कि माइक बंद है। पर माइक चालू था और टिप्पणी रिकार्ड हो गई।

उस महिला एंकर ने आदित्य के लिए कहा था- यह व्यक्ति शिव सेना का राहुल गांधी साबित होगा।

जब यह टिप्पणी वायरल हुई तो महिला एंकर ने अपने ट्विटर एकाउंट से ट्विट करके आदित्य ठाकरे से माफी मांगी।

कायदे से उनको माफी राहुल गांधी से मांगनी चाहिए पर चूंकि खौफ शिव सेना का है

इसलिए आदित्य़ ठाकरे से माफी मांगी गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares