विपक्ष के कुछ और राज्यसभा सांसद टूटेंगे

भारतीय जनता पार्टी वैसे तो राज्यसभा में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है और पक्ष व विपक्ष की पार्टियों के समर्थन से वह जो विधेयक पास कराना चाह रही है उसे पास भी करा ले रही है। इसके बावजूद पार्टी को राज्यसभा में बहुमत की बड़ी चिंता है। अगले सत्र में सरकार को नागरिकता कानून लाकर उसे पास कराना है। पिछले सत्र में सरकार ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के प्रस्ताव और तीन तलाक का विधेयक पास करा लिया था। पर नागरिकता कानून पर उसे अपनी सहयोगी पार्टियों का भी विरोध झेलना पड़ रहा है। बहरहाल, ऑपरेशन राज्यसभा के तहत भाजपा ने कांग्रेस, सपा, टीडीपी जैसी विपक्षी पार्टियों में सेंध लगा रही है और उनके राज्यसभा सांसदों के इस्तीफे करा रही है या सीधे अपनी पार्टी में शामिल करा रही है।

इस अभियान के तहत कहा जा रहा है कि अगले कुछ दिन में कुछ और विपक्षी राज्यसभा सांसद पार्टी छोड़ कर भाजपा में शामिल होंगे। इसमें कर्नाटक से कांग्रेस के एक सांसद का नाम लिया जा रहा है। पूर्वोत्तर के भी एक सांसद के बारे में चर्चा है कि वे भाजपा में जा सकते हैं। समाजवादी पार्टी के कई राज्यसभा सांसदों ने इस्तीफा दिया था। अब भी उसके एक सांसद के बारे में कहा जा रहा है कि वे भाजपा के साथ जा सकते हैं। भाजपा के इस अभियान से एक दो और पार्टियों की चिंता बढ़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares