कांग्रेस का नया सेकुलर चेहरा शशि थरूर

कांग्रेस पार्टी में थोड़े समय पहले तक जो भूमिका मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह निभाते थे वह सक्रिय भूमिका अब लग रहा है कि शशि थरूर निभाने लगे हैं। ऐसा नहीं है कि दिग्विजय सिंह सक्रिय नहीं हैं पर उनकी सक्रियता ट्विटर और सोशल मीडिया पर ज्यादा दिख रही है। खास कर संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में। कांग्रेस ने आधिकारिक रूप से संशोधित नागरिकता कानून, सीएए का विरोध किया है पर कांग्रेस ने कहीं भी इसे लेकर बड़ा आंदोलन खड़ा नहीं किया है। दूसरे लोग जो आंदोलन कर रहे हैं उसमें भी कांग्रेस की भागीदारी नहीं के बराबर है।

संभवतः शशि थरूर इकलौते बड़े नेता हैं, जो नागरिकता कानून के विरोध में हो रहे आंदोलनों में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने अपने राज्य केरल में हुए विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया। फिर वे दिल्ली के जामिया इलाके के शाहीन बाग में लगातार चल रहे आंदोलन में हिस्सा लेने गए और वहां उन्होंने भाषण भी दिया। वे कांग्रेस के इकलौते नेता हैं, जो जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में भी गए नकाबपोश गुंडों के हमले में घायल जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष से मुलाकात की। वैसे प्रियंका गांधी पांच जनवरी की रात हमले के तुरंत बाद एम्स गई थीं पर वे भी जेएनयू नहीं गईं। पहली बार करीब तीन साल पहले जब जेएनयू में छात्रों पर पुलिस कार्रवाई हुई थी तब राहुल गांधी वहां गए थे पर इस बार वे भी वहां नहीं गए। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बनाई चार सदस्यीय जांच टीम के सदस्यों ने जरूर जेएनयू के छात्रों से मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares