nayaindia जरूरी नहीं कि अच्छा कलाकार अच्छा इंसान भी हो : स्वरा - Naya India
kishori-yojna
मनोरंजन | बॉलीवुड| नया इंडिया|

जरूरी नहीं कि अच्छा कलाकार अच्छा इंसान भी हो : स्वरा

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर का कहना है कि फिल्मों में सकारात्मक और दमदार भूमिका निभाने वाले किसी कलाकार के बारे में यह जरूरी नहीं है कि वह अपनी असल जिंदगी में भी एक अच्छा इंसान हो।

फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ में स्वरा की सह-कलाकार रह चुकीं अभिनेत्री कंगना रनौत को हाल ही में अपने साथी कलाकारों पर की गई अपनी अरुचिकर टिप्पणियों के चलते सोशल मीडिया पर खूब आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है।

सोशल मीडिया पर कंगना की कई बार लोगों से बहस भी हो जाती है जैसे कि हाल ही में गायक-अभिनेता दिलजीत दोसांझ से उनकी तूतू-मैंमैं हो गई थी। कंगना ने उर्मिला मातोंडकर को भी ‘सॉफ्ट पॉर्न स्टार’ कहकर लोगों को नाराज कर दिया था। स्वरा और तापसी पन्नू जैसी अभिनेत्रियों का उल्लेख कंगना ने ‘बी ग्रेड एक्ट्रेसेस’ के तौर पर किया है। यहां तक कि दिग्गज अभिनेत्री जया बच्चन को भी कंगना ने नहीं बख्शा था।

तो ऐसे में क्या कंगना ‘एक बेहतर कलाकार एक अच्छा इंसान भी होता है’ वाक्य के विपरीत बैठती हैं? इस पर स्वरा ने बताया, मेरे ख्याल से सिर्फ एकमात्र कंगना से ही इस वाक्य का कोई लेना-देना नहीं है। हां, पहले हमारे बीच बहस हुई है, लेकिन मुझे लगता है कि हमें इस उक्ति पर पुनर्विचार करने की जरूरत है कि ‘एक अच्छा कलाकार एक अच्छा इंसान भी होता है।’

हम कई बार यह गलती कर देते हैं, सिर्फ इसलिए कि किसी ने पर्दे पर एक अच्छे इंसान की या किसी प्रेरक भूमिका को निभाया है, तो हम उसे एक अच्छा इंसान समझने की गलती कर बैठते हैं। किरदार को अच्छे से निभाने का मतलब है कि उस कलाकार में प्रतिभा है, वे अपने काम में अच्छे हैं। यह जरूरी नहीं कि असल जिंदगी में भी वह एक अच्छा इंसान हो।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 1 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव