अवधारणा बनाने से पहले 'पानीपत' देखें : आशुतोष गोवारीकर - Naya India
मनोरंजन | बॉलीवुड| नया इंडिया|

अवधारणा बनाने से पहले ‘पानीपत’ देखें : आशुतोष गोवारीकर

मुंबई। फिल्मकार आशुतोष गोवारीकर ने लोगों से उनकी आगामी फिल्म ‘पानीपत’ के बारे में कोई भी अवधारणा बनाने से पहले इसे देखने का आग्रह किया है। अभी कुछ दिनों पहले ‘पानीपत’ के ट्रेलर के रिलीज होने के बाद से ही इसे लेकर विवादों का दौर जारी है।

बुधवार की शाम को फिल्म का प्रचार करते हुए आशुतोष ने कहा, “मुझे लगता है कि लोगों को फिल्म देखने की जरूरत है। फिल्म को देखने के बाद उन्हें उनके सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

जब वे फिल्म देखेंगे, तब वे महसूस कर पाएंगे कि इसे नेक इरादे से बनाया गया है और फिल्म में सारी अच्छी बातें ही हैं।” हालांकि लगता यह है कि आशुतोष की ये बातें प्रभावहीन रहीं क्योंकि गुरुवार को पेशवा बाजीराव की आठवीं पीढ़ी के वंशज नवाबजादा शादाब अली बहादुर ने फिल्म में पार्वती बाई के किरदार के रूप में अभिनेत्री कृति सैनन द्वारा बोले गए कुछ संवादों को लेकर फिल्म के निर्माता सुनीता गोवारीकर व रोहित शेलतकर और निर्देशक आशुतोष गोवारीकर को नोटिस भेजा है।

कृति को यह संवाद कहते हुए फिल्म के ट्रेलर में देखा जा सकता है जो कुछ इस प्रकार है : “मैंने सुना है पेशवा जब अकेले मुहिम पर जाते हैं तो एक मस्तानी के साथ लौटते हैं।”

हालांकि इस एक संवाद के अलावा भी फिल्म पहले भी कई विवादों से घिर चुकी है। इससे पहले, अफगान समुदाय की एक श्रेणी ने फिल्म में अफगान शासक अहमद शाह अब्दाली के किरदार के चित्रण पर नाराजगी व्यक्त की है। इसके बाद, कई लोगों की शिकायत यह है कि ट्रेलर से पता चलता है कि फिल्म का लुक संजय लीला भंसाली की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘बाजीराव मस्तानी’ से काफी हद तक मिल रही है।

यह फिल्म सन 1761 में मराठा योद्धाओं और अब्दाली के बीच लड़ी गई पानीपत की तीसरी लड़ाई पर आधारित है, जो 6 दिसंबर को रिलीज हो रही है। फिल्म में अर्जुन कूपर, संजय दत्त और कृति सैनन मुख्य किरदारों में हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *