• डाउनलोड ऐप
Saturday, April 10, 2021
No menu items!
spot_img

#MeToo तारक मेहता उल्टा चश्मा की फेम बबीताजी ने जब किया था बड़ा खुलासा, वह ब्रा की स्ट्रैप खींचता था, अपना हाथ मेरे…

Must Read

Entertainment Desk | टेलीविजन की दुनिया के एक प्रमुख पात्र मुनमुन दत्ता उर्फ बबीताजी (Munmun Dutta Aka Babitaji) ने अपने साथ हुए #MeToo का खुलासा करके सबको चौंका दिया था। तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो (Taarak Mehta ka Ultah Chashma) के किरदार बबीताजी (Babitaji) रियल जिंदगी में भी मशहूर है। दत्ता के भी लाखों में चाहने वाले हैं। वैसे इस शो में दत्ता काफी खुले विचारों वाली महिला के रूप में नजर आती हैं, लेकिन रियल लाइफ में बबीताजी उर्फ मुनमुन भी #MeToo का शिकार हो चुकी है।

इस घटना को सुनकर आप चौंक जाएंगे। मुनमुन दत्ता ने बताया है कि शोषण और यातना का वह दौर भुलाए नहीं भूलता। मुनमुन ने 2018 में जब इस बारे में खुलासा किया था तब हर कोई चौंक गया। आपको याद होगा कि जब भारत में #MeToo अभियान की शुरुआत हुई थीं तो कई अदाकारों, पत्रकारों और महिला प्रोफेशनल्स ने होने साथ हुए शोषण के बारे में खुलकर बात की थीं। इसी दौरान बबिता जी उर्फ़ मुनमुन दत्ता ने भी अपने जीवन की मीटू से जुड़ी कुछ खौफनाक हादसों के बारे में बताया था। बबीताजी ने कहा कि, मुझे यकीं नहीं हो रहा ‘अच्छे’ मर्द इन महिलाओं की संख्या देखकर स्तब्ध हैं। ये वे महिलाएं थीं, जिन्होंने #metoo में अपने साथ हुई इन घिनौनी वारदात का जिक्र किया। मुनमुन ने उस समय कहा था कि ये आपके अपने ही घर में, आपकी बहन, बेटी, मां, पत्नी या आपकी नौकरानी के साथ घटित हो रहा है। आपको उनका भरोसा जीतना होगा। उनसे आप इस तरह की घटनाओं के बारे में बात करें तो आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे।

इसके साथ ही मुनमुन दत्ता ने अपने जीवन के बारे में भी खुलासे किए। न्होंने कहा कि वो समय बेहद दर्दभरा था। कई बार आंखों से अपने आप ही आंसू टपक जाते थे। जब मैं नन्ही बच्ची थी तो पड़ोस का एक व्यक्ति उन्हें घूरा करता था। मुनमुन आशंकित होती थी कि पता नहीं वह उनके साथ ऐसा क्या कर देगा। उस व्यक्ति के देखने का तरीका बहुत ही ज्यादा खतरनाक था। मुनमुन ने आगे बताया कि उस व्यक्ति ने मुझे बड़ा होते देखा। ऐसा लग रहा था कि जैसे वो मेरे अंगों को अपनी मर्ज़ी से कभी भी छू सकता है।

ट्यूशन टीचर ने डाला अंडरपैंट में हाथ
मुनमुन के साथ हुई ज्यादती यहीं नहीं रुकी। उन्होंने खुलासा किया कि उनका ट्यूशन टीचर था जिसने उनके अंडरपैंट में हाथ डाला था। एक और दूसरा वो टीचर था जो क्लासरूम में लड़कियों को डांटने के बहाने उनकी ब्रा की स्ट्रैप खींचता था। इतना ही नहीं मुनमुन ने उस व्यक्ति को हैवान सम्बोधित करते हुए इंस्टाग्राम पर लिखा था कि वह बच्चियों के स्तन पर भी मारता था। मुनमुन दत्ता के इस खुलासे को करने के बाद से ही हर कोई उनकी बातों पर हैरान रह गया था।

दरअसर कुछ समय पहले मुनमुन दत्ता ने अपने उपर हुए अत्याचारों का खुलासा करते हुए एक इंस्टाग्राम पोस्ट किया था। उस समय अहसास हुआ था कि आंखों में नाखून लिए बैठे भेड़ियों की संख्या दुनिया में कम नहीं है। वे हमारे आसपास ही हैं। मुनमुन दत्ता उर्फ बबीताजी ने बताया कि ‘ऐसा कुछ लिखते हुए मेरी आंखों में आंसू आ रहे हैं। ऐसा कर के मैं एक बार फिर से बचपन की उन खौफनाक यादों को जी रही हूं। जब मैं अपने घर के नजदीक में रहने वाले एक अंकल से डरती थीं। उसे जब भी मौका मिलता था वह मुझे जकड़ लेता और धमकाता कि मैं यह बात किसी को न बताउं। मुझसे उम्र में कहीं ज्‍यादा बड़े कजिन भी थे जो अपनी खुद की बेटियों से अलग तरह की निगाह से उन्हें देखते थे।

मुनमुन ने यहां तक कहा कि वह आदमी जिसने उन्हें अस्‍पताल में पैदा होते हुए देखा था और बाद में जब मैं 13 साल की थी। तो उसने उन्हें गलत तरीके से छुआ क्योंकि मैं एक टीनेजर थी और शरीर में बदलाव हो रहे थे। उन्होंने बताया कि उनका ट्यूशन टीचर जिसने नीचे हाथ लगाया था। एक वह भी अध्यापक था, जिसे उन्होंने राखी बांधी थी। वह अपनी विद्यार्थियों की ब्रा का स्‍ट्रैप पकड़ कर खींचता था और लड़कियों के स्‍तनों पर हाथ से मारता था।

मुनमुन ने अपनी बात में लगभग सभी बेटियों का दर्द बयां करते हुए कहा कि ट्रेन में मिला एक आदमी जिसने जकड़ लिया था। क्‍यों? क्यों कि आप इतनी छोटी और डरी हुई थीं कि कुछ कह ही नहीं पायीं। इतनी डरी हुई होती हैं कि अपने पेट आपमें एक अजीब मरोड़ महसूस करती हैं। गला डर के मारे सूख जाता है। यही नहीं कोई भी बच्ची यह समझ नहीं पाती कि आप अपने पैरेंट्स् को कैसे बताएंगी कि आपके भीतर मर्दों को लेकर एक नफरत जन्मने लगती है। आपको लगता है कि सारे मर्द अपराधी हैं और उसी वजह से आपको यह महसूस करना पड़ा है। यह एक ऐसी भावना है। जिससे बाहर आने में आपको सालों लग जाते हैं।’

मुनमुन दत्ता की इस पोस्ट के बाद में इस विषय पर काफी प्रभावी तरीके से विचार हुआ। यही नहीं कुछ पत्रकारों ने पूर्व पत्रकार और मोदी सरकार में मंत्री रहे एमजे अकबर पर भी मीटू के तहत आरोप लगाए। अकबर को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देवी के मंदिर दर्शन करने जा रहे श्रद्धालुओं से भरी डीसीएम खाई में गिरी, 11 की मौत, 41 घायल

कानपुर। यूपी के इटावा में शनिवार को एक बड़ा दर्दनाक हादसा (Road accident in Etawah) हो गया। आज अचानक...

More Articles Like This