नुपूर ने लिखी कविता, सुनकर भावुक हुईं कृति - Naya India
मनोरंजन | बॉलीवुड| नया इंडिया|

नुपूर ने लिखी कविता, सुनकर भावुक हुईं कृति

मुम्बई। लॉकडाउन के इन दिनों में बॉलीवुड सितारें अपने खाली समय का जमकर सदुपयोग कर रहे हैं और जिंदगी से जुड़े इन किस्सों को सोशल मीडिया के सहारे अपने प्रशंसकों संग बांट भी रहे हैं, ताकि उनके प्रशंसक भी इस वक्त बोरियत व तनाव से कुछ दूर हटकर सुकून व खुशी के कुछ पल बिता सकें।

बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन ने भी इंस्टाग्राम पर एक ऐसा पोस्ट साझा किया है, जो आपके दिलों को छू जाएगी। दरअसल, कृति ने एक वीडियो साझा किया है, जिसमें उनकी बहन व गायिका नुपूर सैनन अपने घर में स्विंग चेयर पर बैठी एक कविता सुनाती नजर आ रही हैं। इस कविता की खासियत यह है कि इसे खुद नुपूर ने लिखा है। कविता का शीर्षक तो तुम इसलिए है।

अपने इस पोस्ट के कैप्शन में कृति ने लिखा है, हम आज की इस भागदौड़ भरी दुनिया में प्यार को लेकर अकसर सवाल उठाते हैं, जहां गहरी संवेदनाओं की बहुत कमी है..पेश है नुपूर सैनन द्वारा लिखी गई एक खूबसूरत कविता! यह मेरे दिल को छू गई है, उम्मीद करती हूं कि इससे आप भी भावुक होंगे! नुपूर..तुम इतनी बड़ी कब हो गई? लोगों को नुपूर की यह कृति बेहद भा रही है।

एक यूजर ने लिखा है, अब नुपूर दी एक बहुत अच्छी सिंगर होने के साथ-साथ एक अच्छी पोएट भी बन गई हैं। एक ने लिखा, आप कब लिख रही हैं अगली पोएम।कृति द्वारा साझा किए गए इस वीडियो को अब तक 24,604 बार देखा जा चुका है।

By वेद प्रताप वैदिक

हिंदी के सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले पत्रकार। हिंदी के लिए आंदोलन करने और अंग्रेजी के मठों और गढ़ों में उसे उसका सम्मान दिलाने, स्थापित करने वाले वाले अग्रणी पत्रकार। लेखन और अनुभव इतना व्यापक कि विचार की हिंदी पत्रकारिता के पर्याय बन गए। कन्नड़ भाषी एचडी देवगौड़ा प्रधानमंत्री बने उन्हें भी हिंदी सिखाने की जिम्मेदारी डॉक्टर वैदिक ने निभाई। डॉक्टर वैदिक ने हिंदी को साहित्य, समाज और हिंदी पट्टी की राजनीति की भाषा से निकाल कर राजनय और कूटनीति की भाषा भी बनाई। ‘नई दुनिया’ इंदौर से पत्रकारिता की शुरुआत और फिर दिल्ली में ‘नवभारत टाइम्स’ से लेकर ‘भाषा’ के संपादक तक का बेमिसाल सफर।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});