nayaindia वेब सीरीज कहानी कहने के सामान्य तरीके से अलग होती है: अभिषेक - Naya India
मनोरंजन | बॉलीवुड| नया इंडिया|

वेब सीरीज कहानी कहने के सामान्य तरीके से अलग होती है: अभिषेक

नई दिल्ली। ‘ब्रीद: इनटू द शैडोज’ में निभाए गए डबल रोल ने अभिनेता अभिषेक बच्चन को मनोवैज्ञानिक अंतरद्वंद में डाल दिया है। लेकिन वह इस किरदार के साथ और आगे बढ़ना पसंद करेंगे। अपनी डेब्यू वेब सीरीज में अभिषेक द्वारा निभाया गया डॉ. अविनाश सभरवाल का चरित्र एक विभाजित व्यक्तित्व विकार (स्पिलिट पर्सनालिटी डिस्ऑर्डर) से पीड़ित व्यक्ति का है, जो एक तरफ अपने लापता बच्चे की तलाश करता एक व्याकुल पिता भी है और एक बुरा व्यक्ति भी है।

अविनाश के किरदार में उतरने के दौरान जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ा, उसे लेकर अभिषेक ने आईएएनएस को बताया, “जब हमने अवि को आकार देना शुरू किया तो कई चुनौतियां थीं। (निर्देशक) मयंक शर्मा और मैंने उसकी विशेषताओं और बारीकियों पर काम करने में हफ्तों खर्च किए। हम चाहते थे कि दर्शक महसूस करें कि शायद वे अवि की तरह किसी व्यक्ति को जान सकें। हमने उसे आपके आर्कषक ‘हीरो’ के रूप में नहीं बनाया था।

उन्होंने आगे कहा, “एक वेब सीरीज आपको सामान्य कहानी और उसे कहने के तरीके से अलग जाकर कुछ करने की स्वतंत्रता देती है। लेकिन इसकी सबसे बड़ी चुनौती है उसे विश्वसनीय बनाना। अभिषेक ने डिस्ऑर्डर से जुड़ी चीजों की बारीकियों को समझने के लिए बहुत रिसर्च कि या।

उन्होंने कहा, शुक्र है कि वे दो अलग-अलग व्यक्तित्व थे, जिनसे निपटने में कोई संघर्ष नहीं करना पड़ा। डिस्ऑर्डर को सही तरीके से समझने और पेश करने के लिए निर्देशक, लेखकों और मैंने जितना संभव हो सका उतनी रिसर्च की। स्टडी करने के अलावा हमने इस डिस्ऑर्डर के मरीजों के वीडियो भी देखे और बोर्ड में एक कंसल्टेंट भी रखा।’ब्रीद: इनटू द शैडो’ 10 जुलाई को अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई थी, जिसमें अभिषेक, निथ्या मेनन, अमित साध और सैयामी खेर ने काम किया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

ten + thirteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नगर निकाय चुनाव में 9 लाख प्रत्याशियों की खर्च सीमा
नगर निकाय चुनाव में 9 लाख प्रत्याशियों की खर्च सीमा