Loading... Please wait...

अहमद पटेल है मुसलमान!

इसलिए उन्हें हारना चाहिए। वे हारेंगे तो हिंदू गौरवान्वित होंगे। मानेंगे कि देखों नरेंद्र मोदी- अमित शाह ने मुसलमानों के अखिल भारतीय रहनुमा को हरा दिया। औकात दिखला दी। तब गुजरात के हिंदूओं में वैसी ही आंधी बनेगी जैसे उत्तर प्रदेश में एक भी मुसलमान को टिकट न देने से बनी थी। यही जंग का प्रतीक और उसे लड़ने के तरीके में सबकुछ जायज होने का सिद्वांत है। 

कई लोगों ने चर्चा चलाई कि अमित शाह ने अपने साथ जो हुआ उसका वे बदला ले रहे है। अपने को पता है और अपन मानते है कि गुजरात के दंगों से ले कर शौहराबुद्दीन, इसरतजहां आदि के मामलों में नरेंद्र मोदी-अमित शाह के खिलाफ मनमोहन सरकार, कांग्रेस, अहमद पटेल, चिदंबरम ने जो किया, जो एप्रोच अपनाई वह गलत थी। तिल का ताड़ बना कर काली-सफेद दाढ़ी में मीडिया से तिनके निकलवाने का जो हल्ला हुआ, शक की सुईयों को जैसे घुमाया गया वह अति थी। उस वक्त भी नया इंडिया ही अकेला अखबार था जिसके पहले पेज पर कालम-दर-कालम विश्लेषण हुआ कि यह सब गलत है और कांग्रेस को लेने के देने पड़ेगे।

उस नाते कह सकते है कि अहमद पटेल के साथ वही हो रहा है जिसके उन्होंने बीज बोए थे। कांग्रेस ने भी सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्स का वैसे ही इस्तेमाल किया था जैसे अभी नरेंद्र मोदी-अमित शाह कर रहे है। मोदी-शाह क्यों चूके?   

बावजूद इसके तब और अब में फर्क है। तब आंख में कुछ शर्म थी अब बेशर्मी है। अब ढ़के की चोट कहा जा रहा है कि विपक्ष को खत्म करना है। हर बूथ पर कांग्रेस को खत्म करना है। जबकि कांग्रेस ने भाजपा की सरकारों को, भाजपा को जिंदा रहने दिया। पनपने दिया और कई मायनों में बढ़ने में मदद की। मनमोहन सरकार ने वाजपेयी के दामाद रंजन भट्टाचार्य का लिहाज किया उन्हे राबर्ड वाड्रा नहीं बनाया। कांग्रेस ने विपक्ष को धमकाया, डराया तो सरकार को संकट से बचाने के इमरजेंसी प्रबंधों में न कि विपक्ष को खत्म करने के जिहाद में। न ही कांग्रेस ने अपने सेकुलर धर्म में भगवाधारियों को कभी वैसे गले लगाया जैसे पिछले दो साल में अमित शाह ने दुपट्टा ओढ़ा कर कांग्रेसियों को लगाया है। 

पर नरेंद्र मोदी-अमित शाह को कांग्रेस क्योंकि खत्म करनी है इसलिए जंग में अपनाए जा सकने वाली निर्ममता, सभी औजारों का उपयोग होना ही है। हाल में गुजरात में पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में अमित शाह ने सैनिकों को किस दो टूक अंदाज में आव्हान किया था कि हर बूथ पर कांग्रेस को खत्म करना है। तभी यदि अहमद पटेल हारे तो वह शंखनाद होगा राज्यसभा में एक सीट से ले कर बूथ तक कांग्रेस के सफाए की। मतलब एक इंच जगह विपक्ष के लिए नहीं। और राष्ट्रवादी हिंदू यह सोच बम-बम होंगे कि मुसलमानों की रहनुमा पार्टी कांग्रेस और उसके रहनुमा नेता अहमद पटेल का हुआ सफाया। 

क्या अब भी आप नहीं मानेंगे कि जंग को कितने जनून से लड़ा जा रहा है? जंग कितनी उद्देश्यपूर्ण है?  नरेंद्र मोदी-अमित शाह वह कर दिखाएंगे जो कोई नहीं कर पाया!  मेरी इच्छा नरेंद्र मोदी-अमित शाह के लिए तालियां बजाने की है। मगर न जाने क्यों मुझे यूपी चुनाव में बनारस की यात्रा के बाद से चिंता होने लगी है कि विपक्ष खत्म हुआ, मुसलमानों की रहनुमा कांग्रेस या अहमद पटेल खत्म हुए तो उस शून्य में  मुसलमान कहीं फिर से मोहम्मद अली जिन्ना की तलाश में न निकल पड़े या मुसलमान देश छोड़ जाएंगे?  पता नहीं अपने सवर्ज्ञ नरेंद्र भाई-अमित भाई क्या भविष्य बूझे हुए है? क्या ये अहमद भाई ऊफ बाबू भाई को निपटाने से आगे की भी सोचते है?

Tags: , , , , , , , , , , , ,

772 Views

बताएं अपनी राय!

हिंदी-अंग्रेजी किसी में भी अपना विचार जरूर लिखे- हम हिंदी भाषियों का लिखने-विचारने का स्वभाव छूटता जा रहा है। इसलिए कोशिश करें। आग्रह है फेसबुकट, टिवट पर भी शेयर करें और LIKE करें।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

भारत ने नहीं हटाई सेना!

सिक्किम सेक्टर में भारत, चीन और भूटान और पढ़ें...

बेटी को लेकर यमुना में कूदा पिता

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर शहर के पत्नी और पढ़ें...

पाक सेना प्रमुख करेंगे जाधव पर फैसला!

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd