Loading... Please wait...

चतुर है मोदी, बहुत चतुर!

क्या‍ आपको ऐसा जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के मोदी संग आठ किलोमीटर लंबे रोड शो से नहीं लगा? सोचे कितनी चतुराई से गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री शिंजो आबे का रोड शो, बुलेट ट्रेन की नींव का प्रोग्राम मोदी के कलेंडर में बना। दो साल पहले जी-20 की बैठक के बाद मैंने लिखा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले 2018 में जी -20 की बैठक दिल्ली में विश्व नेताओं की परेड करवा सकती है। तब विपक्ष क्या करेगा? जान ले जी-20 ग्रुप में नरेंद्र मोदी ने प्रारंभिक सहमति भी बनवा ली थी मगर अंर्जेंटाइना अपने मौके को छोड़ने को तैयार नहीं हुआ इसलिए बात नहीं बनी। बावजूद इसके तय माने कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले का नरेंद्र मोदी-अमित शाह का कलेंडर हर तरह की प्लानिंग लिए हुए है। 

अपना मानना है कि नरेंद्र मोदी-अमित शाह ने लोकसभा चुनाव का बिगुल बजा दिया है। अब वे और उनकी सरकार पूरी तरह चुनावी मोड में रहेगी। 11 करोड़ से 17 करोड़ वोटों के बाद इनमें घटत-बढ़त का हिसाब लगा कर नए गोलपोस्ट बना लिए गए है तो पुराने फार्मूलों में ऐसे फैसले होंगे कि कांग्रेस, राहुल गांधी और विपक्ष कहीं टिक ही नहीं पाए।

कईयों ने नरेंद्र मोदी के पहली बार मसजिद में जाने के बढ़े अर्थ निकाले है। हिंदू राष्ट्रवादी हैरान है कि जिसने जाली वाली मुस्लिम टोपी नहीं पहनी वे शिंजो आबे को झालीदार मसजिद दिखाने कैसे वहा पहुंच गए? जान ले यह मुसलमान वोट पटाने की कोशिश नहीं है। ऐसे दिखावे के कुछ काम होंगे ताकि दूसरे हार्डकौर काम के बावजूद प्रधानमंत्री पर फोकस नहीं बने। तय माने कि अगले दो सालों में हिंदू –मुस्लिम धुव्रीकरण भारी बनेगा। रोहिंग्या का अकेला ऐसा मुद्दा मिल गया है जिस पर हिंदूओं में मैसेज बनना है कि देश की सुरक्षा, आंतकियों को रोकने की चिंता पहले या इंसानियत का तकाजा पहले? मुस्लिम जनता, मुस्लिम संगठन, औवेसी एंड पार्टी से ले कर कांग्रेस, वामपंथी, सेकुलर सब मान रहे है कि रोहिंग्या के मसले से नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा जा सकता है। इससे प्रमाणित किया जाए कि मोदी सरकार कितनी भेदभावपूर्ण व इंसानियत विरोधी है। सुप्रीम कोर्ट या मानवाधिकार आयोग जैसी एजेंसियों की दखल हुई या कूटनीति हुई तब भी मोदी सरकार इस मामले में कटघरे में होगी। 

पर यह कटघरा ही भाजपा के लिए 2019 का चुनाव जीतने की गारंटी होगी। चाहे-अनचाहे सारा नैरेटिव, बहस, मुद्दे हिंदू बनाम मुस्लिम की राजनीति को पकाने वाले है। सो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मसजिद जाए, कश्मीर में इंसानियत की बात हो या सबके विकास की बात हो, चुनाव की अंतरधारा रोहिंग्या, मुस्लिम महिलाओं के तलाक, गोरक्षा, राम मंदिर, जम्मू-कश्मीर में सख्ती, ममता-कांग्रेस-वाम की मुस्लिम पक्षधरता, आतंक की धुरी पर बनेगी। बनाई जाएगी। 

दूसरा कोर मुद्दा भ्रष्टाचार के मामले में विपक्षी नेताओं की घेरेबंदी का है। गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद विपक्षी पार्टियों और नेताओं पर जांच एजेंसियों की कहर टूट पड़नी है। ऐसा हल्ला पैदा किया जाएगा मानों भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदी सरकार आर-पार की लड़ाई लड़ रही है। 

इसलिए जो दिख रहा है वह हकीकत नहीं है। राजनीति की हकीकत सतही घटनाएं नहीं है। यह सोचना फिजूल है कि नरेंद्र मोदी-अमित शाह घबरा रहे है। ये अपने को अजेय मानते थे, मानते है और मानते रहेंगे। जीतने का इनका रोडमेप, कलेंडर सब बना हुआ है। महंगाई, पेट्रोल-डीजल के दाम, आर्थिक बदहाली, नोटबंदी-जीएसटी की चिंताएं सरकार में नहीं है। इसलिए कि इन चिंताओं को एक झटके में दूसरी तरफ मोड दिया जा सकता है। जैसे यह कि पेट्रोल—डीजल का भाव कुछ महीने आस्मां पर रख एक दिन अचानक उसे जीएसटी में ले आया जाए तो वह 25-30 रुपए सस्ता हो जाएगा या यह कि अचानक घोषणा हो कि उज्जवला में लिए गरीब परिवारों  के सिलेंडर अब सौ रुपए में भरे जाएंगे। 

सो संकट आर्थिकी का नहीं है बल्कि मूल मसला हिंदू बनाम मुस्लिम की उस तासीर को ऐन वक्त ऐसी हवा देना है जिसे कोई समझ न पाएं और 2019 के लोकसभा चुनाव के नतीजे भी उत्तर प्रदेश जैसे आ जाएं।

Tags: , , , , , , , , , , , ,

747 Views

बताएं अपनी राय!

हिंदी-अंग्रेजी किसी में भी अपना विचार जरूर लिखे- हम हिंदी भाषियों का लिखने-विचारने का स्वभाव छूटता जा रहा है। इसलिए कोशिश करें। आग्रह है फेसबुकट, टिवट पर भी शेयर करें और LIKE करें।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

मुख मैथुन से पुरुषों में यह गंभीर बीमारी

धूम्रपान करने और कई साथियों के साथ मुख और पढ़ें...

भारत ने नहीं हटाई सेना!

सिक्किम सेक्टर में भारत, चीन और भूटान और पढ़ें...

पाक सेना प्रमुख करेंगे जाधव पर फैसला!

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय और पढ़ें...

बेटी को लेकर यमुना में कूदा पिता

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर शहर के पत्नी और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd