nayaindia BJP connect mass community जन समुदाय को जोड़ने की जुगत में भाजपा
kishori-yojna
गेस्ट कॉलम | देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| BJP connect mass community जन समुदाय को जोड़ने की जुगत में भाजपा

जन समुदाय को जोड़ने की जुगत में भाजपा

भोपाल। प्रदेश में भाजपा सत्ता और संगठन उन योजनाओं को महत्व दे रहा है जिनसे सामाजिक समरसता का माहौल बने और बड़े समुदाय को पार्टी से जुड़ा जाए। इसके लिए पार्टी के स्थापना दिवस 6 अप्रैल से 14 अप्रैल अंबेडकर जयंती तक कार्यक्रमों को बनाया गया है।

दरअसल, पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार की जिस तरह से वापसी हुई है। उसको देखते हुए प्रदेश में सत्ता और संगठन 2023 में सरकार बनाने के लिए समरसता का रास्ता अपनाने पर जोर दे रहे हैं। केंद्र सरकार ने भी खाद्यान्न योजना की अवधि बढ़ा दी है क्योंकि इस योजना से जातीय सीमाएं टूट जाती है और महिलाओं गरीब एवं दलितों मैं पैठ बनाने में आसानी होती है पांच राज्यों के चुनाव परिणामों से भले ही भाजपा की चार राज्यों में जीत हो गई हो लेकिन कितनी कठिनाई भरी और कितनी मुश्किलों से यह जीत मिली है। इसके लिए पार्टी के रणनीतिकार भली-भांति समझ रहे हैं और जिन राज्यों में अगले 2 वर्षों में विधानसभा के चुनाव होना है वहां के लिए सत्ता और संगठन को विशेष रूप से तैयार किया जा रहा है जिससे कि 2024 के लोकसभा चुनाव में भी पार्टी को सफलता मिल सके।

बहरहाल, गुरुवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी की महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, प्रदेश प्रभारी पी. मुरलीधर राव, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के अलावा प्रदेश पदाधिकारी समर्पण निधि अभियान के सदस्य विभिन्न मोर्चों के प्रदेश अध्यक्ष पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी प्रकोष्ठ के संयोजक जिला अध्यक्ष जिला प्रभारी बूथ प्रबंधन प्रभारी और कुशाभाऊ ठाकरे जन्म शताब्दी आयोजन समिति के सदस्य विशेष रूप से उपस्थित थे। इस बैठक में जहां बूथ विस्तारक अभियान समर्पण निधि अभियान की समीक्षा की गई। जहां-जहां कमजोर स्थिति थी वहां सुधारने के लिए हिदायत के साथ वक्त दिया गया। वहीं आगामी कार्यक्रमों पर विशेष फोकस किया गया जिसने कि 6 अप्रैल को पार्टी के स्थापना दिवस पर विशेष कार्यक्रम आयोजन किए जाना है। जिसमें सुबह 9:00 बजे प्रदेश के सभी बूथ मंडल और जिला कार्यालयों में पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता एकत्रित होंगे। 20 मिनट का पैदल मार्च करेंगे फिर सामूहिक वंदे मातरम का गायन होगा और 10:00 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

जिसको सभी को बैठकर सुनना है। पार्टी ने दूसरा बड़ा कार्यक्रम 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती वह बनाने का निर्णय लिया है। जिसमें भोपाल के जंबूरी मैदान में एक बड़ा सम्मेलन आयोजित किया जाएगा इसके पहले 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक पार्टी के कार्यकर्ता जो जहां है। वहीं पर स्वच्छता अभियान चलाएगा जलाशयों की सफाई करेगा। वैक्सीनेशन सेंटर के निरीक्षण किए जाएंगे एवं सेवा बस्तियों में स्वास्थ्य शिविर और चौपाल आयोजित किए जाएंगे। जिसके माध्यम से पार्टी के कार्यक्रमों को आम जनता ने बताया जाएगा पार्टी ने समर्पण निधि का कार्यक्रम आगे भी जारी रखने का निर्णय लिया है क्योंकि लक्ष्य से अभी दूर है उषा भाऊ ठाकरे जन्मशती समारोह को लेकर समितियां गठित की गई है। इन समितियों के माध्यम से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन 15 अप्रैल से होना है। इन कार्यक्रमों को भी पूरी ताकत के साथ करने की बात कही गई है। इसके लिए बूथ लेवल पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

कुल मिलाकर सत्ता के साथ संगठन ने भी मिशन 2023 फतह करने की तैयारियां तेज कर दी है। इसके लिए पार्टी पूरी तरह से संकल्पित है और पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी लापरवाही करने का मौका नहीं दिया जाएगा। पार्टी कार्यालय में जिस तरह से बैठक के पहले पार्टी के महामंत्री भगवानदास सबनानी में प्राइमरी की कक्षा की तरह पदाधिकारियों की नाम पुकार कर हाजिरी ली उससे यह संदेश भी दिया गया है यह 2023 तक किसी भी प्रकार की उदासीनता नहीं चलेगी।

सरकार जहां ऐसी योजनाओं पर जोर दे रही है जो कि गरीबों के लिए कल्याणकारी हो जिससे कि गरीबों को पार्टी से जोड़ा जा सके चाहे वह किसी भी जाति का हो। वहीं दूसरी ओर बिरसा मुंडा जयंती पर जिस तरह से आदिवासियों का आगाज़ पार्टी ने किया था। उसी तरह डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती पर सेवाभावी कार्य करके और जोर शोर से बना कर अनुसूचित जाति वर्ग को पार्टी की तरफ करने की योजना बनाई गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 5 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जम्मू-श्रीनगर हाईवे एक बार फिर बंद
जम्मू-श्रीनगर हाईवे एक बार फिर बंद