nayaindia lalitpur rape police station भक्षक बने रक्षक पर गिरी सरकारी गाजललितपुर में पाली एसओ निलंबित, 6 पुलिसकर्मियों पर मुकदमा, पूरा थाना लाइन हाजिर
देश | उत्तर प्रदेश | गेस्ट कॉलम| नया इंडिया| lalitpur rape police station भक्षक बने रक्षक पर गिरी सरकारी गाजललितपुर में पाली एसओ निलंबित, 6 पुलिसकर्मियों पर मुकदमा, पूरा थाना लाइन हाजिर

भक्षक बने रक्षक पर गिरी सरकारी गाज, निलंबन के बाद दबोचा गया आरोपी

लखनऊ। योगी सरकार की अपराध और भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति के बावजूद शायद कुछ शैतानों को अभी इसका डर नहीं है। तभी तो वो ऐसी घिनौनी हरकत करने की हिमाकत कर रहे हैं। बहरहाल सरकार भी ऐसे दुष्टों को बिल्कुल भी माफ करने नही जा रही है। इसी के चलते सीएम योगी के निर्देश पर तत्काल कड़ी कार्रवाई जारी है।

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के पाली थाने थानेदार पर लगे 13 वर्षीय किशोरी के साथ रेप करने के संगीन और घिनौने आरोप के बाद प्रदेश की राजनीति बेहद गरमा गयी है। पूरा विपक्ष सरकार पर हमलावर है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पीड़ित बालिका के परिवार से मिलने गए हैं, वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर सरकार पर सवाल दागे हैं। प्रियंका ने आरोप लगाया कि बुलडोजर के शोर में कानून व्यवस्था में असली सुधार की जरूरत को दबा दिया गया है। प्रियंका ने पूछा कि जब थाने में ही बेटी सुरक्षित नहीं तो फिर वो कहां शिकायत लेकर जाए ?

किशोरी रेप मामले में विपक्ष हमलावर, सरकार ने भी की बड़ी कार्रवाई

दूसरी ओर योगी सरकार भी इस मामले में पूरी सख्ती से कार्रवाई करती दिखाई पड़ रही है। पाली थाने के आरोपी थानेदार को सस्पेंड करके उसकी तत्काल गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिए गए। एडीजी कानपुर ने थानेदार सहित 6 अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। खबर लिखे जाने तक इसमें से मुख्य आरोपी थानेदार सहित 4 की गिरफ्तारी हो चुकी है जिसमे एक महिला भी है। साथ ही पूरे थाने को लाइन हाजिर कर दिया है।

मामले पर बयान देते हुए एडीजी एलओ प्रशांत कुमार ने कहा कि घटना पर डीआईजी झांसी को मौके पर पूरी घटना के राजफाश होने तक ललितपुर रुकने को कहा गया है। एडीजी एलओ ने कहा कि घटना में किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। गम्भीर धाराओं में एफआईआर हुयी है। सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हुई हैं।

खबर लिखे जाने तक मिली जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी पूर्व थाना इंचार्ज तिलकधारी सरोज को पुलिस टीम ने प्रयागराज में गिरफ्तार कर लिया है। एडीजी प्रयागराज जोन प्रेम प्रकाश द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार पूर्व एसओ की तलाश में कौशाम्बी, बांदा और प्रयागराज में ताबड़तोड़ छापेमारी की गयी। इसी कड़ी में आरोपी पूर्व एसओ पुलिस की प्रयागराज टीम के हाथों दबोच गया है।

बहरहाल मामला बेहद संगीन है और इस मामले पर यूपी की राजनीति भी बेहद गरम है। सत्तारूढ़ भाजपा जहां त्वरित कार्रवाई के नाम पर अपना बचाव कर रही है, वहीं विपक्ष पर वर्तमान सरकार के रक्षकों के ही भक्षक बनने की बात कह कर सरकार को निशाने पर लिए है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

4 × two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पंचायती राज और नगरीय निकाय चुनाव
पंचायती राज और नगरीय निकाय चुनाव