खंडवा में खंड खंड में अखंड जीत का ख्वाब
गेस्ट कॉलम | देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| खंडवा में खंड खंड में अखंड जीत का ख्वाब

खंडवा में खंड खंड में अखंड जीत का ख्वाब

By elections LokSabha seats

भोपाल। केवल 2009 को छोड़ दें तो 1996 से 2019 तक भाजपा प्रत्याशी के रूप में नंदकुमार चौहान लगातार चुनाव जीते रहे हैं और भाजपा यहां अखंड जीत का ख्वाब लेकर चुनाव मैदान में है इसके लिए कई खंडों में पार्टी की रणनीति विभाजित है कहीं जातियों के कही युवाओं के कहीं प्रबुद्ध वर्ग को साधने की निरंतर कोशिश हो रही हैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के लगातार दौरे हो रहे हैं वही आज पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ खंडवा पहुंच रहे हैं।

Read also कश्मीर: आने वाले बुरे दिन

दरअसल खंडवा की पूर्व सांसद भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान के निधन के तुरंत बाद से भाजपा को अपनी परंपरागत सीट को बचाए रखने की चिंता सताए जाने लगी थी और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव के सक्रिय होने के बाद भाजपा को 2009 का चुनाव परिणाम याद आने लगा था जिसमें अरुण यादव ने लगभग 49000 वोटों से नंदकुमार चौहान को हराया था हालांकि कांग्रेस ने अरुण यादव को टिकट नहीं दिया है लेकिन वे चुनाव प्रचार कर रहे हैं और क्षेत्र में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अल्पसंख्यक गुर्जर और ठाकुर मतदाताओं की अच्छी खासी संख्या भाजपा को सतर्क और सावधान किए।

यही कारण है की आठ विधानसभा क्षेत्रों बुरहानपुर नेपानगर खंडवा पंधाना मांधाता बागली बड़वाह भीकनगांव मैं पिछले 2 महीनों से प्रदेश सरकार के दिग्गज मंत्री अपने-अपने क्षेत्रों में सक्रिय हैं और संगठन के दर्जनों पदाधिकारी चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं मंत्री कमल पटेल जगदीश देवड़ा हरदीप सिंह डंग तुलसी सिलावट मोहन यादव विजय शाह उषा ठाकुर और इंदर सिंह परमार पार्टी की जीत के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा पूरे संसदीय क्षेत्र में 50 से भी ज्यादा सभाएं करेंगे आठों विधानसभा क्षेत्रों में कम से कम 5 सभाएं निश्चित रूप से की जाएंगे इसके अलावा रोड शो और बैठकों के अनेकों दौड़ चलेंगे 2000000 से भी ज्यादा मतदाताओं वाले खंडवा विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं को मतदान केंद्र तक पहुंचाने की चुनौती भी भाजपा अपने कार्यकर्ताओं के सामने रख रही है।

कुल मिलाकर भाजपा को रैगांव जोबट और पृथ्वीपुर विधानसभा से भी ज्यादा चिंता खंडवा लोकसभा की है क्योंकि यह पार्टी का मजबूत गढ़ माना जाता है और जहां पार्टी को मिल रही लगातार जीत को अखंड बनाए रखने के लिए सत्ता और संगठन अपनी पूरी ताकत झोंक रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Coronavirus Cases in India: 24 घंटे में 54 हजार से ज्यादा संक्रमित, डेल्टा प्लस वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता
Coronavirus Cases in India: 24 घंटे में 54 हजार से ज्यादा संक्रमित, डेल्टा प्लस वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता