Loading... Please wait...

सच्चा युवा वही जो चुनौती स्वीकार करे: योगी

जौनपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा है कि युवाओं के सामने कई चुनौतियां है और सच्चा युवा वही है जो पलायन करने के बजाए चुनौती को स्वीकार करे। श्री योगी ने कहा कि विश्वविद्यालय डिग्री बांटने का केंद्र न बने बल्कि वह नौजवानों के हितों को ध्यान में रखते हुए विकास में योगदान दे।

मुख्यमंत्री आज जौनपुर में वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद की जयन्ती पर राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह को बतौर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार की वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना का मकसद क्षेत्रीय उत्पादों को बढ़ावा देना है। उन्होंने कहा कि हमें क्षेत्र विशेष के परम्परागत उत्पादों को मंच देना होगा तब जाकर क्षेत्र का विकास होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनाओं का लाभ प्रदेश के चार लाख लोग पा चुके हैं। विश्वविद्यालय इसमें अपना योगदान सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के लिए और विश्वविद्यालय नकल विहीन परीक्षा के लिए अपने को तैयार रखें। यही स्वामी विवेकानंद के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा स्वयं रोजगार देने वाला बनें, रोजगार के लिए उसे कहीं भटकना न पड़े। उन्होंने प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थाओं से नकल विहीन परीक्षा कराने की बात कही। मुख्यमंत्री ने किसानों की चर्चा करते हुए कहा कि अगर 22 करोड लोगों के चेहरे पर खुशहाली लानी है तो पहले किसानों को खुशहाल करना पड़ेगा, कितना अच्छा होता अगर हर महाविद्यालय में मिट्टी की जांच केंद्र स्थापित होता। उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमने अपने शरीर की जांच कराते हैं, ठीक उसी तरह से हमें मिट्टी की भी जांच करानी चाहिए।

उन्होंने एक हिन्दी समाचार पत्र की चर्चा करते हुए कहा कि वह बिना किसी के कहे अपनी जिम्मेदारी मानते हुए मिट्टी परीक्षण के कार्य को बढ़ावा देने के लिए लोगों को जागरूक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कितना अच्छा होता कि प्रदेश के हर इण्टर कालेज और महाविद्यालय में इसके लिए प्रयास करते तो प्रदेश के दो करोड़ 45 लाख किसानों को स्वायल हेल्थ कार्ड मिल जाता। मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय को व्यवसायिक पाठ्य क्रम चलाने के लिए आगामी बजट में भरपूर धन देने का वायदा किया।

श्री योगी ने कहा कि स्वर्गीय रज्जू भैया, अशोक सिंघल और महन्त अवैद्यनाथ के नाम पर बने संस्थान को सरकार हर मदद करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर राजाराम यादव को जो कार्य योजना का प्रारूप सौंपा है वह उसे प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग में प्रेषित करें। सरकार उसे अगले सत्र से शुरू करने में मदद करेगी।

इस मौके पर कुलपति प्रो0 राजाराम यादव ने विश्वविद्यालय की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि देश में पोस्ट डाक्ट्रेट फेलोशिप देने वाला यह पहला विश्वविद्यालय है। साथ ही समय से परीक्षा कराने और उसके परिणाम घोषित करने वाले अग्रणी विश्वविद्यालयों में यह एक है। उन्होंने साथ ही यह बताया कि शोध प्रबंध गंगा के पोर्टल पर डालने वाला यह देश के तीसरे नम्बर का विश्वविद्यालय बन गया है।

प्रो0 यादव ने कहा कि प्लेसमेंट सेल ने 30 विद्यार्थियों का कैम्पस सेलेक्शन कराया और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सहयोग से आईएएस और पीसीएस की कोचिंग भी शुरू करने जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से विश्वविद्यालय परिसर में प्रारम्भ हो रहे नवीन पाठ्यक्रमों एवं संस्थानों के लिए वार्षिक वेतन के रूप में 11 करोड़ एवं भवन निर्माण के मद में 18 करोड़ रूपये की मांग की। उन्होंने अपने सम्बोधन में विश्वविद्यालय के विविध पक्षों की उत्तरोत्तर प्रगति की आख्या भी प्रस्तुत की।

वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर के संगोष्ठी भवन परिसर में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के साथ कुलपति प्रो0 राजाराम यादव ने प्रो0 राजेन्द्र सिंह (रज्जू भइया) भौतिकीय विज्ञान अध्ययन एवं शोध संस्थान भवन एवं अशोक सिंहल भारतीय परम्परागत विज्ञान एवं तकनीकी संस्थान भवन का शिलान्यास किया। इसके साथ ही संगोष्ठी भवन का नामकरण पूज्य महन्त अवैद्यनाथ के नाम पर हुआ।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने गत माह लुटेरों की गोली से शहीद हुए जौनपुर जिले के मादरडीह मुंगराबादशाहपुर निवासी स्व0 विनय त्रिपाठी की पत्नी श्रीमती पूनम त्रिपाठी को राज्य सरकार की तरफ से पांच लाख रुपये का चेक दिया। उन्होंने पीड़ित परिवार एवं जिलावासियों की भावना का सम्मान एवं शहीद की शहादत को नमन करते हुए यह अनुग्रह राशि दी है। इस अवसर पर नगर विकास राज्यमंत्री गिरीश चन्द यादव, जौनपुर के सांसद डॉक्टर के पी सिंह, विधायक रमेश मिश्र, दिनेश चौधरी तथा लीना तिवारी मौजूद रहे।

87 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd