Loading... Please wait...

मधुमक्खियों की मदद से इस तरह बचाए जा रहे हाथी

गुवाहाटी। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ने एक अनूठी युक्ति निकाली है जिससे हाथियों के ट्रेनों से टकराने की घटनाओं में कमी आयी है। यह युक्ति है पटरियों के पास मधुमक्खियों की भिनभिनाहट की आवाज को बजाना। मधुमक्खियों की भिनभिनाहट की आवाज को इंटरनेट से डाउनलोड किया गया है। रेलवे की यह अनूठी पहल खूब सुर्खियां बटोर रही है। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) ने इस प्रणाली को अपने चार डिवीजनों के उन सभी चुनिंदा रेलवे समपार पर लागू किया है , जहां हाथियों का क्षेत्र है। यह पहल 2017 के अंत में क्रमबद्ध तरीके से लागू की गयी तथा इस साल ट्रेन से टकराने की घटनाओं में केवल छह हाथियों की मौत हुई है। 2013 में इस तरह की घटनाओं में मरने वाले हाथियों की संख्या 19 थी । 2014 में पांच, 2015 में 12, 2016 में 9, जबकि 2017 में इसकी संख्या 10 थी। एनएफआर के अतिरिक्त महाप्रबंधक लोकेश नारायण ने बताया , ‘‘ हमने पहले इसे रांगिया डिवीजन में लगाया और जब यह तरीका सफल रहा तो बाद हमने अन्य क्षेत्रों में भी इस तरीके को अपनाया। इसे सिर्फ छह महीने पहले ही शुरू किया गया है।’’ केन्या में पटरियों से हाथियों को दूर रखने के लिए उस इलाके में बाड़ पर मुधमक्खियों के छत्ते को लटका दिया जाता है। एनएफआर ने इन जानवरों को दूर रखने के लिए इलेक्ट्रॉनिक "बजर" का उपयोग किया है। हाथी को हटाने की तकनीकों में मिर्ची बम और इलेक्ट्रिक बाड़े का उपयोग भी पहले किया ज चुका है। किंतु भिनभिनाहट की ध्वनि वाला यह तरीका सबसे प्रभावी और किफायती साबित हुआ है। यह एक साधारण उपकरण है, जिसमें इंटरनेट से मधुमक्खियों की रिकॉर्ड की गई आवाज डाउनलोड कर बजाया जाता है। इस उपकरण की लागत करीब 2,000 रुपये है और यह 600 मीटर दूर तक किसी हाथी को सुनाई दे सकती है। 

360 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2018 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech