Loading... Please wait...

विदेश से डॉलर भेजने में भारतीयों का सानी नहीं

न्यूयार्क। भारत विदेश से धन प्राप्त करने के मामले में दुनिया का सबसे अग्रणी देश है। देश के प्रवासी कामगारों ने 2017 में 69 अरब अमेरिकी डॉलर विदेश से भारत भेजे। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल एशिया प्रशांत क्षेत्र में विदेश से 256 अरब डॉलर भेजे गए।

रिपोर्ट ‘ रेमिटस्कोप - रेमिटेंस मार्केट्स एंड अपॉर्च्यूनिटीज - एशिया एंड द पैसिफिक ’ कहती है कि 2017 में भारत (69 अरब डॉलर), चीन (64 अरब डॉलर) और फिलीपीन (33 अरब डॉलर ) में क्रमश : विदेश से सबसे ज्यादा रकम भेजी गई। पाकिस्तान (20 अरब डॉलर) और वियतनाम (14 अरब डॉलर) भी विदेश से बड़ी रकम प्राप्त करने वाले टॉप 10 देशों में शुमार हैं। एशिया और प्रशांत क्षेत्र में भेजी जाने वाली रकम का 70 फीसद क्षेत्र के बाहर से आता है और उसमें भी खास तौर पर खाड़ी देशों से 32 फीसद , उत्तर अमेरिका से 26 फीसद और यूरोप से 12 फीसद।

ऐसी उम्मीद है कि वर्ष 2030 तक विकासशील देशों को विदेश से भेजी जाने वाली रकम 6000 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगी। इसमें से आधी रकम एशिया प्रशांत क्षेत्र में आएगी जो अक्सर बेहद छोटे कस्बों और गांवों तक पहुंचती है। इंटरनेशनल फंड फॉर एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट (आईएफएडी) ने कहा कि पिछले साल प्रवासी कामगारों ने अपने परिवारों को एशिया प्रशांत क्षेत्र में 256 अरब अमेरिकी डॉलर की रकम भेजी।

461 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2018 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech