प्रोफेसर बनकर देश का भविष्य संवारे

एक प्रोफेसर बनना एक उग्र लड़ाई हो सकता है। लेकिन, यदि आप एक योजना बनाते हैं और चरणों को एक-एक करके पालन करते हैं तो आप अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। चरणों को जानने में आपकी सहायता के लिए, इस ब्लॉग में, हम "भारत में कॉलेज प्रोफेसर कैसे बनें" पर चरण-दर-चरण प्रक्रिया की व्याख्या कर रहे हैं?

योग्यता

•    प्रोफेसर बनने के लिए ग्रेजुएशन पूरी होनी चाहिए

•    ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी होनी चाहिए

•    कम से कम 55% मार्क्स पोस्ट ग्रेजुएशन में होनी चाहिए

कॉलेज प्रोफेसर (College Professor) कैसे बने असिस्टेंट प्रोफेसर और लेक्चरर (Lecturer) बनने की पूरी जानकारी

1. अपने फेवरेट सब्जेक्ट से 12वी पास करें

लाइफ में आपको कुछ भी बनाना हो चाहे एक वकील बनना हो, इंजिनियर बनना हो या डॉक्टर बनना हो सबसे पहले आपको 12वी पास करना बेहद जरुरी है। उसके बाद आप आगे की पढाई पूरी कर सकते है। सेम इसी तरह अगर आपको एक कॉलेज प्रोफेसर बनना है तो आपके अपने फेवरेट सुजेक्ट जिस भी सब्जेक्ट के आप प्रोफेसर बनना चाहते है। उसे अच्छे से पढ़े और उसी सब्जेक्ट में 12वी पास करे अच्छे मार्क्स से ताकि आप किसी रेगुलर कॉलेज में अपनी आगे की पढाई पूरी कर सके।

2. ग्रेजुएशन पूरी करे फेवरेट सब्जेक्ट में

जैसे ही आप अपनी बारवी की पढाई पूरी कर लेते है इसके बाद अब आपको जिस भी सब्जेक्ट के लिए कॉलेज प्रोफेसर बनना है या असिस्टेंट प्रोफेसर बनना है उस सब्जेक्ट में अपनी ग्रेजुएशन पूरी करी या डिग्री पूरी करे और ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 55% मार्क्स होने चाहिए।

3. पोस्ट ग्रेजुएशन यानि मास्टर डिग्री पूरी करे

जैसे ही आप ग्रेजुएशन पूरी कर लेते है। इसके बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन या मास्टर डिग्री करनी होगी यानि जिस भी सब्जेक्ट को आपको पढाना है। कॉलेज में एक प्रोफेसर के तोर पर उस सब्जेक्ट में आपको स्पेशलाइजेशन करना होगा। जिसका मतलब ये है की आप उस सब्जेक्ट में एक्सपर्ट हो जायेंगे जिसके बाद आप किसी भी कॉलेज में स्टूडेंट्स को आसानी से कॉलेज प्रोफेसर की तरह पढ़ा सकते है। ध्यान रहे मास्टर डिग्री में भी आपके कम से कम 55% मार्क्स होने चाहिए एक कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए।

4. UGC NET टेस्ट के लिए अप्लाई करे और क्लियर करे

जैसे ही आपकी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी हो जाती है। उसके बाद आप कॉलेज में एक लेक्चरर बनने के लिए रेडी है लेकिन उससे पहले आपको यूजीसी नेट  के एग्जाम देना होगा और इससे क्लियर करना होगा। बिना इस एग्जाम को क्लियर करे आप किसी भी कॉलेज में एक लेक्चरर या कॉलेज प्रोफेसर (College Professor) नही बन सकते तो आपको इस टेस्ट को क्लियर करना होगा। जैसे ही आप इस टेस्ट को क्लियर कर लेते है उसके बाद आप एक कॉलेज लेक्चरर बन सकते है और कॉलेज में पढ़ा सकते है।

5. M.Phil या P.hd करे प्रोफेसर बनने के लिए

अगर आपको कॉलेज प्रोफेसर बनना है तो ऐसे में आपको पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद P.hd या M.phil दोनों में से एक चीज़ की डिग्री पूरी करनी होगी। तभी आप एक कॉलेज प्रोफेसर बन पाएंगे। किसी भी सब्जेक्ट में एक प्रोफेसर या या सीर्चेर बनना है तो आपको P.hd करना ही होगा। तो इसके लिए आपके पास पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए और कम से कम 55% मार्क्स होने चाहिए।

एक कॉलेज लेक्चरर, कॉलेज प्रोफेसर या असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकते है। तो सैलरी शुरुवात में कम होती है। कॉलेज प्रोफेसर को 37,400- 67,000 के बीच सैलरी मिलता है। एक्सपीरियंस के आधार पर और असिस्टेंट प्रोफेसर या कॉलेज लेक्चरर की सैलरी  15,600- 39,100 के बीच होती है।

232 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।