Loading... Please wait...

श्रीलंका में फिर से मृत्यदंड की सजा शुरू

कोलंबो। श्रीलंका के कारावास के अधिकारियों ने बताया कि देश में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना द्वारा मौत की सजा को फिर से शुरू किए जाने के फैसले के बाद खाली पड़े जल्लाद पद की भर्ती के लिए आवेदन निकाला जाएगा। कारावास प्रवक्ता थुसारा उपुदेनिया ने बताया कि देश के राष्ट्रपति सिरिसेना द्वारा मादक पदार्थ के तस्करों को जेल में जीवनभर बंद रखने के बजाए मौत की सजा देने की घोषणा के बाद अब अगले सप्ताह जल्लाद की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया जाएगा। 

श्रीलंका में 1976 के बाद से अब तक किसी भी दोषी को फांसी की सजा नहीं सुनाई गई है। यहां अपराधियों को नियमित रूप से हत्या , दुष्कर्म और मादक पदार्थ संबंधित अपराधों के लिए फांसी की सजा सुनाई जाती है लेकिन यह सजा उम्रकैद में बदल दी जाती है। श्रीलंका में अब भी आधिकारिक रूप से जल्लाद हैं लेकिन 2014 में जल्लाद पद के तीनों कर्मचारियों ने पद छोड़ दिया था। उन्होंने बताया कि जल्लाद पद के लिए चुने गए उम्मीदवार को 35,000 रुपये प्रति महीना वेतन दिया जाएगा। 
 

238 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।