Loading... Please wait...
ताजा पोस्ट सुर्खिया
काबुल में विस्फोट, 20 मरे, 300 घायल
चैंपियंस ट्रॉफी: भारत ने बांग्लादेश को 240 रनों से हराया
यूपी में डॉक्टरों की रिटायरमेंट उम्र दो साल बढ़ी
केरल में पशु वध पर सोनिया, राहुल से माफी की मांग
आरसीए चुनाव के परिणाम दो जून को घोषित किये जाये
बाबरी मामला : आडवाणी, जोशी व अन्य को जमानत मिली
बांग्लादेश में तूफान ‘मोरा’ ने दी दस्तक
आडवाणी, जोशी कोर्ट में पेश होने के लिए लखनऊ रवाना
सीरिया में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल खतरे की घंटी: मैक्रोन
जापान में बस दुर्घटनाग्रस्त, 8 घायल
रूस में तूफान, 11 मरे
मोदी ने की मर्केल से मुलाकात
भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज नहीं हो सकती: खेल मंत्री
बैल काटे जाने पर कांग्रेस के 4 कार्यकर्ता निलंबित
पीएम मोदी चार देशों की यात्रा पर रवाना

शब्द फिरै चहुं धार

अब बोलना जरूरी है!

यशवंत सिन्हा - देश के वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था की जो दुर्गति की है, उसके खिलाफ अगर मैं अब भी नहीं बोला तो इसका मतलब होगा कि मैं अपना राष्ट्रीय और पढ़ें....

बहुत ‘अच्छे’ थे पीवीआर के प्रसाद!

महीनों, सालों बाद यह कॉलम लिख रहा हूं और यदि वजह पीवीआरके प्रसाद के निधन, उनकी स्मृति शेष है तो आप सोच सकते हैं कि मेरे लिए पीवीआरके प्रसाद क्या अर्थ लिए और पढ़ें....

सेकुलर पीटे, मंडल निपटा!

नरेंद्र मोदी, अमित शाह को सलाम! रामचंद्र गुहा सहित उन तमाम सेकुलरवादियों को इन दो ने आज औकात दिखला दी कि तुम जिस नीतिश कुमार पर इतरा रहे थे वह तो सत्ता के और पढ़ें....

दिल से, मोदी का शुक्रिया!

फिर सुबह, फिर लिखने बैठना और फिर सोचना! हम लिखने वालों, सोचने वालों का यह नित्य कर्म हर सुबह सवाल लिए होता है कि आज क्या? पर नरेंद्र मोदी का भला हो, उनका और पढ़ें....

दिल्ली में खाशोगी की चांदनी के वे चार दिन

कौन किसका चेला था, कहना मुश्किल है, लेकिन दुनिया की निगाह में अदनान खाशोगी चंद्रास्वामी के चेले थे। अपने गुरू के दिल्ली में अंतिम संस्कार के तेरहवें दिन और पढ़ें....

एनडीटीवी व प्रणय रॉयः तब और अब

मैं एनडीटीवी को हिंदुओं का, भारत राष्ट्र राज्य का प्रतिनिधि संगठन मानता हूं। इसलिए कि भारत में टॉप पर तभी कोई पहुंच सकता है जब वह क्रोनी पूंजीवाद की और पढ़ें....

एनडीटीवी व प्रणय रॉयः तब और अब

मैं एनडीटीवी को हिंदुओं का, भारत राष्ट्र राज्य का प्रतिनिधि संगठन मानता हूं। इसलिए कि भारत में टॉप पर तभी कोई पहुंच सकता है जब वह क्रोनी पूंजीवाद की और पढ़ें....

वक्त सुनने का, फील करने का!

हां, आज मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं। और यह मौका ऐसा वक्त लिए हुए है, जिसमें जंग की गड़गड़ाहट है। भारत और पाकिस्तान के सेनापति सीधे भिड़ने की कगार और पढ़ें....

वक्त सुनने का, फील करने का!

हां, आज मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं। और यह मौका ऐसा वक्त लिए हुए है, जिसमें जंग की गड़गड़ाहट है। भारत और पाकिस्तान के सेनापति सीधे भिड़ने की कगार और पढ़ें....

वक्त, कलम और बुद्धि का बोझ!

ठीक सात साल पहले नया इंडिया अंकुरित हुआ। हिसाब से मेरे लिए आज खुशी का, संतोष का दिन होना चाहिए। पर वक्त, कलम और बुद्धि का आज जो बोझ है उसने यह यक्ष प्रश्न और पढ़ें....

← Previous 1234
(Displaying 1-10 of 35)

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd