शंकर शरण

गाय और राजनीति

अभी जब डॉ. सुब्रहमण्यम स्वामी ने देश में गोहत्या बन्द कराने के लिए कानून बनाने का प्रस्ताव संसद में रखा, तो दिल्ली के एक बड़े अंग्रेजी अखबार ने कार्टून और पढ़ें....

सोचें, अरुण शौरी की चिन्ता में क्या गलत?

अरुण शौरी की बातें अब बहुतेरे राष्ट्रवादियों, हिन्दूवादियों को पसंद नहीं आ रही। कारण दलीय पक्षधरता और राष्ट्रीय हितों का घाल-मेल हो जाना है। अन्यथा, और पढ़ें....

न्यायपालिका का विवाद और संकेत?

राजनाथ सिंह ‘सूर्य’ -- जिस दिन जुडिशियल एकाउंटीबिलिटी, एनजीओ के कर्ताधर्ता प्रशांत भूषण ने सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्र को और पढ़ें....

सोचे जरा सांस्कृतिक गरीबी पर

ईरानी राष्ट्रपति हसन रुहानी के अनुसार पूरी दुनिया में हिंसा, आतंक और हत्याओं की 84 प्रतिशत घटनाएं मुस्लिम समाजों में हो रही है। उन्होंने नोट किया कि आज और पढ़ें....

मदरसों का सच और हम

वैश्विक समुदाय आज जिस मजहबी कट्टरपंथ और आतंकवाद के दंश से ग्रस्त है- आखिर उसे अविरल प्रोत्साहित करने वाली मानसिकता कहां पैदा होती है और उसमें मदरसों की और पढ़ें....

भला यह कैसी मानसिकता?

राजनाथ सिंह ‘सूर्य’ -- सर्वोच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की गई है जिसमें मांग की गई है कि केंद्रीय विद्यालयों में हो रही ‘‘हिन्दू और पढ़ें....

गंगा की चिन्ता कैसे और क्या अर्थ ?

नेता लोग चुनाव जीतने के लिए कटिबद्धता से हर उपाय करते हैं। उसी तरह अफसर पोस्टिंग या तरक्की के लिए हर बाधा दूर करने का मार्ग खोजते हैं। अधिक से अधिक टैक्स और पढ़ें....

इजराइल से रिश्तों को पंख!

इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की 14 जनवरी से भारत की चार दिवसीय यात्रा शुरू हो रही है। निश्चित रुप से इस यात्रा से दोनों देशों के संबंध और और पढ़ें....

टैगोर नहीं, तैमूर

हाल में फिल्म एक्टर सैफ अली खान के बेटे तैमूर की पहली सालगिरह थी। कई हस्तियो ने ‘तैमूर’ को बधाई दी। जब यह नामकरण हुआ था, तो भारत, पाकिस्तान, बंगलादेश और पढ़ें....

चौथे खंभे को नोचा जा रहा!

मैं इसे पत्रकारिता पर हमला मानता हूं। यूआइडीएआई ने जिस तरह आधार कार्ड का डाटा बेचे जाना का भंडा फोड़ करने वाली ट्रिब्यून की रिपोर्टर रचना खेरा पर केस और पढ़ें....

← Previous 123456789
(Displaying 1-10 of 215)