इजराइल और हमास के संघर्ष में 103 की मौत - Naya India
विदेश| नया इंडिया|

इजराइल और हमास के संघर्ष में 103 की मौत

यरुशलम। इजराइल और हमास का छोटे स्तर पर शुरू हुआ संघर्ष अब युद्ध में तब्दील हो रहा है। शुक्रवार को इजराइल डिफेंस फोर्स यानी आईडीएफ ने गाजा पट्टी पर बने हमास के ठिकानों पर हवाई हमला किया। टाइम्स ऑफ इजराइल की रिपोर्ट के मुताबिक इस हमले में हमास की रॉकेट लांचिंग साइट तबाह हो गई। आईडीएफ ने दावा किया है कि हमास के तीन सौ रॉकेट मिसफायर होकर गाजा पट्टी में ही गिर गए। इस कारण ही वहां मौतें इजराइल के मुकाबले ज्यादा हुई हैं। हमास और इजराइल के आपसी हमलों में अब तक 103 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें 27 बच्चे भी शामिल हैं। लड़ाई में 580 लोग घायल हो गए हैं।

मरने वालों में सात इजराइल के हैं और बाकी फिलस्तीन के हैं, जो इजराइल के हवाई हमले में मारे गए हैं। इजराइल ने अपनी सेना और टैंकों को गाजा पट्टी के पास तैनात करना शुरू कर दिया है। वायु सेना ने भी सक्रियता बढ़ा दी है। इजराइली सेना के प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा-हम किसी भी तरह की जंग के लिए तैयार हैं। इजराइली सेना ने बताया कि गाजा पट्टी की तरफ से अब तक 1,750 रॉकेट दागे गए हैं। जवाब में इजराइली सेना ने छह सौ बार हवाई हमला किया है।

उधर, अमेरिका ने गुरुवार को होने वाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की मीटिंग को रूकवा दिया। अमेरिका ने कहा कि इस मीटिंग से शांति कायम करने में कोई फायदा नहीं होगा। ये मीटिंग चीन की तरफ से बुलाई गई थी। दूसरी ओर तुर्की के राष्ट्रपति तैयब एर्दोआन ने इजराइल के खिलाफ मुस्लिम देशों को इकट्ठा करना शुरू कर दिया है। उन्होंने गुरुवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को फोन लगाया। एर्दोआन ने पुतिन से कहा कि अब इजराइल को सबक सिखाने का समय आ गया है।

मुस्लिम देशों के संगठन ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन भी इजराइल और फिलस्तीन के मसले पर सक्रिय हो गया है। तुर्की, सऊदी अरब और पाकिस्तान ने इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक बुलाने का प्रस्ताव रखा था, जिसे ओआईसी ने मंजूर कर लिया है। इस बीच संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुतेरेस ने इजराइल और हमास के बीच चल रही जंग को रोकने की अपील की है। गुतेरेस ने कहा कि पहले ही बहुत से निर्दोष लोगों की जान जा चुकी है। इस लड़ाई से दोनों देशों में कट्टरता बढ़ेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow