ऐसा तो हैवान भी नहीं करते..एक बेटे ने अपनी मां के किए 1000 टुकड़े, बेड पर बिछाकर खाता अपनी मां का मांस - Naya India
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया|

ऐसा तो हैवान भी नहीं करते..एक बेटे ने अपनी मां के किए 1000 टुकड़े, बेड पर बिछाकर खाता अपनी मां का मांस

murder

स्पेन में ऐसी घटना सामने आई है जिसे सुनकर हम सबकी रूह कांप उठेगी। इस खबर को सुनकर ऐसा लगता है कि ये अपराध तो हैवान भी नहीं कर सकते है। मां जो हमें पाल-पोस कर बड़ा करती है इतना स्नेह देती है। मां के जितना प्यार कोई नहीं कर सकता है। ऐसा कहते है हर जगह भगवान नहीं रह सकते है इसलिए उसने मां बनाई। एक 28 साल के लड़के ने अपनी मां की हत्या कर दी। हत्या के बाद मां के 1000 टुकड़े किए और इतना ही नहीं उन टुकड़ों को हफ्ते भर तक सजा कर खाता रहा। पुलिस के सामने मानसिक रूप से बीमार होने का नाटक भी किया। लेकिन ज्यादा देर तक यह नाटक नहीं टिका और उसका राज खुल गया।

 

son kills mother

ऐसे दिया घटना को अंजाम

स्पेन के वेंटस में बेटे ने इस घटना को अंजाम दिया। आरोपी का नाम अल्बर्टो सांचेज गोमेज बताया जा रहा है और उसकी उम्र 28 साल बताई जा रही है। वेंटस में अल्बर्टो सांचेज गोमेज अपनी 68 साल की मां के साथ रहता था। एक दिन अल्बर्टो सांचेज गोमेज का अपनी मां से लड़ाई हो गई। इसके बाद अल्बर्टो को इतना भयानक गुस्सा आया कि उसने अपनी मां की हत्या कर दी। और 1000 टुकड़े बना दिए। पहले अल्बर्टो ने अपनी मां का गला दबाया और फिर लकड़ी काटे जाने वाली आरी से अपनी मां के शरीर के 1000 टुकड़े कर दिए। इसके बाद हैवानियत की हदें पार कर दी। इन टुकड़ो को कही फेंका नहीं बल्कि जार में भरकर फ्रिज में रख दिए। वो इन्हें एक हफ्ते से कभी पकाकर तो कभी कच्चा खाता था। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक पड़ोसियों और उसकी मां के एक दोस्त ने जब उन्हें नहीं देखा तो गुमशुदा होने की रिपोर्ट लिखवाई।

बेड पर सजा कर खा रहा था मास

रिपोर्ट लिखने के बाद पुलिस महिला की तलाश में जुट गई। इसी सिलसिले में जब वो महिला के घर पहुंची तो वहां का नज़ारा हैरान कर देने वाला था। पुलिस ने शायद ही ऐसा मंजर कभी देखा होगा। बिस्तर पर महिला का सिर, हाथ और दिल निकालकर रखा गया था और बेटा अपने पालतू कुत्ते के साथ मिलकर मांस खा रहा था। इसके अलावा लाश के तमाम टुकड़े फ्रिज से बरामद किए गए।

 

crime

कोर्ट पहुंचकर करने लगा ड्रामा

ये मामला साल 2019 का है. 21 फरवरी को जब अल्बर्टो को गिरफ्तार कर पुलिस अदालत ले गई तो उसने मानसिक बीमारी का हवाला देते हुए कहा कि उसे आवाजें आती थीं, जो मां की हत्या के लिए कहती थीं। मुकदमे के दौरान सबूत देने वाले अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने कुबूल किया था कि उसने अपनी मां की गला घोंटकर हत्या की है। इसके बाद सारी दलीलें खारिज हो गईं और आरोप को 15 साल 5 महीने की जेल की सज़ा सुनाई गई है। अल्बर्टो के पिता की मौत 15 साल की उम्र में हो गई थी और उसकी मां ही तब से उसे पाल रही थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *